पंजाब में कांग्रेस के सियासी घमासान के बीच के दो दिन के दौरे पर अरविंद केजरीवाल, ट्रेडर्स और व्यापारियों से करेंगे मुलाकात
Photo | financialexpress.com

पंजाब में कांग्रेस के सियासी घमासान के बीच के दो दिन के दौरे पर अरविंद केजरीवाल, ट्रेडर्स और व्यापारियों से करेंगे मुलाकात

अरविंद केजरीवाल कल लुधियाना जाएंगे और पंजाब के टे्डर्स और व्यापारियों से मुलाकात करेंगे। बयान में बताया गया कि 30 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और कई चुनावी घोषणाएं भी करेंगे।

डेस्क न्यूज़- पंजाब कांग्रेस में जारी सियासी घमासान के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कल यानी 29 सितंबर से पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर हैं। एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, अरविंद केजरीवाल कल लुधियाना जाएंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल पंजाब के टे्डर्स और व्यापारियों से मुलाकात करेंगे। बयान में बताया गया कि 30 सितंबर को अरविंद केजरीवाल प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और कई चुनावी घोषणाएं भी करेंगे।

Photo | TV9 Bharat
Photo | TV9 Bharat

कृषि कानूनों पर सरकार को घेरा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को केंद्र सरकार से तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगों पर विचार करने का आग्रह किया और कहा कि अगर वह ऐसा करती है तो वह किसी के सामने नहीं झुकेगी। उन्होंने सचिवालय में दिल्ली के लिए एक पर्यटन ऐप लॉन्च करने के एक कार्यक्रम के इतर कहा, "हम भगत सिंह की जयंती मना रहे हैं। उन्होंने देश की आजादी के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया। उन्होंने आज तक आजादी की लड़ाई इसलिए नहीं लड़ी थी कि किसानों को अपनी मांगों को पूरा करने के लिए सड़कों पर बैठना पड़ा और एक साल तक विरोध करना पड़े।

किसानों की मांगो पर विचार करे केंद्र – केजरीवाल

केजरीवाल ने कहा, "(केंद्र) सरकार को उनकी मांगों पर विचार करना चाहिए। किसानों की मांगों पर विचार करना किसी के सामने झुकने जैसा नहीं होगा क्योंकि किसान भी हमारे देश के लोग हैं। मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान इसका विरोध कर रहे हैं। नवंबर 2020 से राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को बार-बार विरोध करने और अपनी मांगों को उठाने के लिए भारत बंद का आह्वान करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी मांगें जायज हैं और केंद्र को उन पर विचार करना चाहिए।

सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा, केप्टन हो सकते है भाजपा में शामिल

वहीं, पंजाब कांग्रेस में खींचतान जारी है। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है। सिद्धू के इस्तीफे के बाद पंजाब कांग्रेस की सियासत में और उथल-पुथल की आशंका जताई जा रही है। पार्टी के इस अंदरूनी कलह का असर आगामी विधानसभा चुनाव में देखा जा सकता है, यदि कांग्रेस आलाकमान ने समय रहते पंजाब में हो रहे बवाल का समाधान नहीं किया तो निश्चित तौर पर इसका खामियाजा राज्य विधानसभा चुनाव में भुगतना पड़ सकता है। वही आज पूर्व मुख्यमंत्री केप्टन अमरिंदर सिंह भी आज दिल्ली में है और वह अमित शाह और जे पी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं। और भाजपा में शामिल हो सकते है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com