Congress बनाम TMC: TMC का कांग्रेस पर तंज, कहा- भाजपा का मुकाबला करने के लिए नही बैठेंगे कांग्रेस के भरोसे

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस ने लगातार कांग्रेस पर हमला बोला है और अब गुरुवार को पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के गोवा दौरे से टीएमसी ने कांग्रेस पर हमला बोला है।
Congress बनाम TMC: TMC का कांग्रेस पर तंज, कहा- भाजपा का मुकाबला करने के लिए नही बैठेंगे कांग्रेस के भरोसे

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में जीत के बाद तृणमूल कांग्रेस ने लगातार कांग्रेस पर हमला बोला है और अब गुरुवार को पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी के गोवा दौरे से टीएमसी ने कांग्रेस पर हमला बोला है। टीएमसी के मुखपत्र 'जागो बांग्ला' में लिखे गए एक संपादकीय में टीएमसी ने स्पष्ट रूप से कहा कि टीएमसी भाजपा विरोधी पार्टियों के साथ गठबंधन करना चाहती है। इसका प्रस्ताव भी कांग्रेस को दिया गया था, लेकिन कांग्रेस की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। कांग्रेस सिर्फ ट्वीट पर निर्भर है। कोई हलचल नहीं है। ऐसे में टीएमसी चुप नहीं बैठ सकती। बीजेपी के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी रहेगी।

टीएमसी पर लगे कांग्रेस को तोड़ने के आरोप

बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी की जीत के बाद पार्टी लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी, असम कांग्रेस नेता सुष्मिता देव, कांग्रेस के पूर्व नेता ललितेशपति त्रिपाठी और गोवा में कांग्रेस के पूर्व सीएम सहित पूर्व कांग्रेस नेताओं को टीएमसी में शामिल किया गया है और टीएमसी लगातार कांग्रेस को तोड़ने की कोशिश कर रही है। इसको लेकर कांग्रेस में खासी नाराजगी है।

टीएमसी जारी रखेगी बीजेपी के खिलाफ अपनी लड़ाई

टीएमसी के मुखपत्र 'जागो बांग्ला' में गुरुवार को प्रकाशित एक संपादकीय में लिखा गया, "टीएमसी ममता बनर्जी और अभिषेक बनर्जी के नेतृत्व में अपनी ताकत बढ़ाना जारी रखेगी और फिर जब विपक्षी गठबंधन के साथ कोई प्रभावी कदम उठाने का समय आएगा, तो तृणमूल देश के हित में फैसला करेगी। गठबंधन का दरवाजा खुला है। कांग्रेस के बिना नहीं चलेगी तृणमूल फिर से सदी पुरानी पार्टी के लिए तृणमूल समय बर्बाद नहीं करेगी। कांग्रेस फिलहाल आंदोलन में नहीं है, सिर्फ ट्वीट पर है। उनकी पार्टी भाजपा के खिलाफ विपक्षी दलों को एक साथ लाने के अपने प्रयासों में कांग्रेस के लिए अनिश्चित काल तक इंतजार नहीं कर सकती।"

विपक्षी दलों ने किया था संपर्क, नहीं मिला कोई जवाब

कल सुष्मिता देव ने भी कहा था कि पार्टी ने बीजेपी के खिलाफ गठबंधन बनाने के लिए सभी विपक्षी दलों से संपर्क किया है लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। अन्य सभी दलों को तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष द्वारा गठबंधन के प्रस्ताव दिए गए हैं। उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष (सोनिया गांधी) और अन्य नेताओं से भी मुलाकात की है। उन्होंने कहा, हमने छह महीने तक इंतजार किया लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई या किसी तरफ से कोई पहल नहीं की गई। इसलिए हम आगे बढ़ रहे हैं और अपने आधार को मजबूत कर रहे हैं। शायद कांग्रेस अपने आंतरिक मुद्दों में बहुत व्यस्त है। उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों पर निर्भर है कि वे एक छत के नीचे आगे बढ़ना चाहते हैं या अकेले जाना चाहते हैं।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com