स्वच्छ सर्वेक्षण रैंकिंग 2021: जयपुर नगर निगम की रैंकिंग गिरी जाने किस स्थान पर रहा हेरिटेज और ग्रेटर ?

यह रैंकिंग 10 से 40 लाख की आबादी वाले 48 शहरों में आई है, इससे पहले जयपुर नगर निगम की साल 2020 में रैंक 28वीं थी।
स्वच्छ सर्वेक्षण रैंकिंग 2021: जयपुर नगर निगम की रैंकिंग गिरी जाने किस स्थान पर रहा हेरिटेज और ग्रेटर ?

भारत सरकार के मिशन स्वछता सर्वेक्षण के दौरान हर राज्ये और जिलों की रैंकिंग को तय किया जाता है। वही हम राजधानी जयपुर की रैंकिंग की बात करे तो जयपुर रैंकिंग कई बार पिछड़ी रही है और इसकी मुख्ये वजह अंदरूनी कलह को माना जाता है। एक नजर डाले हम स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 के रिजल्ट आज घोषित हो गए। साल 2020 में जयपुर नगर निगम के दो टुकड़े होने के बाद बने जयपुर नगर निगम हैरिटेज ने 32वीं और नगर निगम ग्रेटर ने 36वीं रैंकिंग हासिल की है। यह रैंकिंग 10 से 40 लाख की आबादी वाले 48 शहरों में आई है। इससे पहले जयपुर नगर निगम की साल 2020 में रैंक 28वीं थी।

नगर निगम को 2400 में से 1735 के करीब अंक मिले है

नंबरों की स्थिति देखे तो जयपुर हैरिटेज को कुल 6 हजार में से 3482.08 और ग्रेटर को 3327.86 अंक मिले है। जयपुर शहर को खुले में शौच मुक्त का दावा करने वाले दोनों ही निकायों को इस कैटेगिरी में 700 में से केवल 500 अंक ही मिले है। हालांकि सिटीजन फीडबैक में ग्रेटर से आगे हैरिटेज रहा है।

दोनों ही नगर निगम ये दावा करते आ रहे है कि शहर में सफाई व्यवस्था माकूल है और समय पर डोर टू डोर कचरा कलेक्शन होने से लेकर डिस्पोजल तक का काम हो रहा है। लेकिन सफाई को लेकर मिले 72 फीसदी अंक कुछ और ही सच्चाई बता रहे हैं। कचरा कलेक्शन करने से लेकर ट्रांसपोर्ट करने और उसका एण्ड पॉइंट पर डिस्पोजल करने के मामले में जब सेंट्रल टीम ने डॉक्यूमेंटेशन किया तो उसमें दोनों नगर निगम को 2400 में से 1735 के करीब अंक मिले है

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com