Telangana Elections: केटीआर ने कहा- कांग्रेस का ‘कर्नाटक मॉडल’ बकवास, राहुल गाँधी हैं ‘राष्ट्रीय पप्पू’

Telangana Elections 2023: तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भारत राष्ट्र समिति, कांग्रेस और भाजपा मुख्य दल हैं। 30 नवंबर को मतदान है। ऐसे में बयानबाजी का दौर चरम पर है।
Telangana Elections: केटीआर ने कहा- कांग्रेस का ‘कर्नाटक मॉडल’ बकवास, राहुल गाँधी हैं ‘राष्ट्रीय पप्पू’

Telangana Assembly Elections 2023: तेलंगाना विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मी है। इस बीच सत्ताधारी दल BRS के नेता और मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर (KCR) के बेटे केटीआर (केटी रामाराव) ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी को ‘राष्ट्रीय पप्पू’ कहा है। केटीआर तेलंगाना सरकार में मंत्री हैं। हाल ही में राहुल गाँधी ने एक जल परियोजना में भ्रष्टाचार को लेकर केटीआर पर आरोप लगाया था।

तेलंगाना सरकार में कैबिनेट मंत्री केटीआर ने कहा कि राहुल गाँधी को बातों की समझ ही नहीं रही है। वो जो आरोप लगा रहे हैं, वो गलत है। केटीआर ने आगे कहा कि राहुल गाँधी जल परियोजना से जुड़े खंभों के पानी में डूबने को भ्रष्टाचार कह रहे हैं, जबकि वो एक्सटेंशन का हिस्सा है और वहाँ पर काम चल रहा है।

कांग्रेस तेलंगाना के लिए अभिशाप

केटीआर ने मीडिया से बातचीत में कहा, “कालेश्वरम परियोजना तेलंगाना के लोगों के लिए आशीर्वाद है, जबकि कांग्रेस तेलंगाना के लिए अभिशाप है। राहुल गाँधी को न तो तेलंगाना का इतिहास पता है और न ही उन्होंने राज्य के बारे में जानने का कोई प्रयास किया है। अब समय आ गया है कि वह अपना स्क्रिप्ट राइटर बदल लें और जो कुछ उनकी पार्टी के नेता उन्हें देते हैं, उसे पढ़ना बंद कर दें।”

केटीआर ने कहा कि राहुल गाँधी और तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ए. रेवंत रेड्डी ने मेदिगड्डा बैराज के एक्सटेंशन को जोड़ने वाले बैराज के लिए बन रहे पिलर्स को बैराज के टूटने के सबूत के रूप में पेश करने की कोशिश की। इसके जरिए ये लोगों में डर पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं कि यह बहने वाला है।

उन्होंने राहुल गाँधी को ‘भारत का पप्पू’ और रेवंत रेड्डी को ‘तेलंगाना का पप्पू’ बताया। केटीआर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का नाम कांग्रेस नहीं, बल्कि ‘घोटाला’ होना चाहिए।

30 नवंबर को होंगे मतदान

गौरतलब है कि तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2023 में 119 सीटों के लिए चुनाव होने हैं, जिसके लिए मतदान 30 नवंबर 2023 को संपन्न होंगे। इसकी मतगणना 3 दिसंबर 2023 को होगी। चुनाव में भारत राष्ट्र समिति (पूर्व में तेलंगाना राष्ट्र समिति), कांग्रेस और भाजपा मुख्य पार्टियाँ हैं। वहीं, बीआरएस की सहयोगी पार्टी के तौर पर असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM अहम भूमिका में है।

logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com