उत्तर प्रदेश में मुहर्रम पर राष्ट्रीय प्रतीक चिन्हों के अपमान का आरोप, कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के कानपुर में मंगलवार को मुहर्रम जुलूस के बीच में भारतीय झंडे फहराए गए लेकिन इन तिरंगे में अशोक चक्र नहीं था। इतना ही नहीं, प्रदर्शित होने वाले भारत के नक्शे पर धार्मिक चिन्ह भी बना दिया गया। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और हिंदूवादी नेता प्रकाश शर्मा ने इस पर आपत्ति जताते हुए प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।
उत्तर प्रदेश में मुहर्रम पर राष्ट्रीय प्रतीक चिन्हों के अपमान का आरोप, कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के कानपुर में मुहर्रम पर मंगलवार को एक नया विवाद खड़ा हो गया। शहर में बड़ी संख्या में मुहर्रम के जुलूस निकाले गए। इस दौरान नई सड़क से निकाले गए जुलूस में राष्ट्रीय चिह्न का गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगा है। हिंदुत्व नेताओं ने इसका विरोध किया है। जुलूस के बीच में भारतीय झंडे फहराए गए लेकिन इन तिरंगे में अशोक चक्र नहीं था। इतना ही नहीं, प्रदर्शित होने वाले भारत के नक्शे पर धार्मिक चिन्ह भी बना दिया गया। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और हिंदूवादी नेता प्रकाश शर्मा ने इस पर आपत्ति जताते हुए कानपुर प्रशासन से कार्रवाई की मांग की है।

नई सड़क से निकाला जुलूस

बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद संगठन के लोगों ने पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड से मुलाकात कर शिकायत की है कि मुहर्रम के जुलूस में राष्ट्रीय प्रतीक का अपमान किया गया है। बजरंग दल के संयोजक कृष्णा तिवारी ने कहा कि इसके साथ ही देश के नक्शे को भी गलत तरीके से प्रदर्शित किया गया। इस मामले में कार्रवाई की जानी चाहिए। हिंदूवादी नेताओं ने इसका एक वीडियो भी पुलिस कमिश्नर को सौंपा।

पुलिस करेगी जांच : कमिश्नर

पुलिस आयुक्त बीपी जोगदंड ने कहा कि पूरे मामले की जांच की जाएगी। अगर ऐसा कुछ हुआ तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। जुलूस मार्ग पर लगे सीसीटीवी फुटेज व दिए गए वीडियो को देखकर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। माहौल खराब करने वाली ऐसी हरकतों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Since independence
hindi.sinceindependence.com