ममता बनर्जी नहीं, वो मुमताज खान है, आखिर बंगाल की CM पर क्यों भड़क गए राम मंदिर के Main पुजारी

Ram Mandir: अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने पश्चिम बंगाल में साधुओं की पिटाई के वीडियो को लेकर सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा है।
ममता बनर्जी नहीं, वो मुमताज खान है, आखिर बंगाल की CM पर क्यों भड़क गए राम मंदिर के Main पुजारी

Ram Mandir: अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने पश्चिम बंगाल में साधुओं की पिटाई के वीडियो को लेकर सीएम ममता बनर्जी  पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा है कि वह ममता बनर्जी नहीं, बल्कि असल में मुमताज खान हैं। वह भगवा रंग देखते ही भड़क जाती हैं। बंगाल में हिंदुओं पर हमले और अत्याचार के पीछे खुद वहां की सीएम का ही हाथ है।

साधुओं का भगवा रूप देखकर क्रोध आता बंगाल की CM को

आचार्य सत्येंद्र दास ने कहा CM के दृष्टिकोण से दुर्गा पूजा, रामनवमी या जो भी हिंदू अनुष्ठान हैं, इन सबको वह नकारती हैं।

इसलिए साधुओं का भगवा रूप देखकर उनको और भी अधिक क्रोध आ जाता है। इसलिए वह आक्रमण कराती हैं। यह खुद मुख्यमंत्री की देन है। इस तरह की घटनाएं बहुत दुखद और घोर निंदनीय हैं।

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में साधुओं के समूह को कथित तौर पर भीड़ के पीटने का वीडियो वायरल हो रहा है।

साधुओं की पिटाई के इस मामले को लेकर BJP ने सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस पर निशाना साधा है।

पश्चिम बंगाल बीजेपी ने बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय की ओर से शेयर किए वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि ममता बनर्जी की गहरी चुप्पी शर्मशार करने वाली है।

क्या ये साधु आपकी मान्यता के योग्य नहीं हैं, अत्याचार जवाबदेही की मांग करता है। हालांकि sinceindependence.com Online इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

राम मंदिर पर ममता ने खाई अल्लाह की कसम

इससे पहले पश्चिम बंगाल CM ममता बनर्जी ने कहा, "मुझसे राम मंदिर को लेकर पूछा गया। मैं उस उत्सव पर विश्वास रखती हूं जो सभी को साथ लेकर चले, सबके बारे में बात करे।

आपको जो करना है करिए, आप चुनाव से पहले गिमिक कर रहे हैं करिए, मुझे कोई दिक्कत नहीं है लेकिन दूसरे समुदाय के लोगों की अवहेलना करना सही नहीं है।

मैं ईश्वर-अल्लाह की कसम खाकर कहती हूं कि जबतक मैं रहूंगी तब तक कभी हिंदु-मुसलमान में भेदभाव करने नहीं दूंगी।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com