Ram Mandir: भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या से आया बुलावा, 108 सदस्यों की टीम करेगी भगवान राम की स्तुति

Ram Mandir: 22 जनवरी को रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा होने जा रही है। इस अवसर पर भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या बुलाया गया है। 108 सदस्यों की डमरू टीम 20 जनवरी को अयोध्या पहुंच जाएगी। डमरू के माध्यम से भगवान राम की स्तुति करेगी। ये देश की इकलौती डमरू टीम है, जिसे अयोध्या बुलाया गया है।
Ram Mandir: भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या से आया बुलावा, 108 सदस्यों की टीम करेगी भगवान राम की स्तुति
Ram Mandir: भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या से आया बुलावा, 108 सदस्यों की टीम करेगी भगवान राम की स्तुति

Ram Mandir: 22 जनवरी को रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा होने जा रही है। इस अवसर पर भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या बुलाया गया है।

108 सदस्यों की डमरू टीम 20 जनवरी को अयोध्या पहुंच जाएगी। डमरू के माध्यम से भगवान राम की स्तुति करेगी। ये देश की इकलौती डमरू टीम है, जिसे अयोध्या बुलाया गया है।

Ram Mandir: 20 दिन पहले शुरू होता है अभ्यास

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र अयोध्या से भोपाल की श्री बाबा बटेश्वर कीर्तन समिति को आमंत्रित किया गया है। टीम के रहने-खाने की व्यवस्था नागेश्वर नाथ मंदिर के पास की गई है।

टीम अलग अंदाज में झांझ-मंजीरे, डमरू, नगाड़े से पूरा माहौल राममय करने में माहिर है। डमरू टीम की पहली प्रस्तुति 21 जनवरी को राम की पैड़ी, तुलसी उद्यान, छोटी देवलकाली, अशर्फी भवन रोड के तिराहे पर होगी।

22 जनवरी को राम जन्म भूमि पथ पर प्रस्तुति होगी। टीम के एक सदस्य ने बताया कि किसी भी कार्यक्रम से 20 दिन पहले हमारी टीम अभ्यास में जुट जाती है।

अयोध्या में प्रस्तुति देने से पहले हमारी टीम घोड़ा नक्कास स्थित साहू समाज धर्म शाला में अभ्यास कर रही है।

Ram Mandir: टीम में BBA, MBA और B.Tech का छात्र शामिल

इसमे 30 कलाकारों को डमरू और एक को शृंगी बजाने में महारत हासिल है। यह शृंगी हिमालय के तराई से मंगाई गई है।

श्रृंगी वाद्य हिमालय के विशेष प्रजाति के मेढ़ा (भेड़) के सींग से बनाई जाती है। इसके अलावा वाद्य यंत्रों में 35 शंख, 30 डमरू, 35 झांझ-मंजीरे, 1 पुनेरी ढोल, 60 इंच का 1 नगाड़ा, 1 थाल घंटा, 4 छोटे ढोल, 4 डंडों में पिरोए हुए 2000 हजार घुंघरू शामिल हैं।


डमरू टीम में 10 बीसीए, एमबीए कलाकार हैं। 18 से अधिक ऐसे कलाकार हैं जो बीटेक (इंजीनियरिंग) कर रहे हैं।

टीम में सबसे ज्यादा उम्र का कलाकार 38 वर्ष का है, तो सबसे छोटे की उम्र सिर्फ 14 साल है। टीम लीडर अर्जुन सोनी एमबीए कर चुके हैं।

Ram Mandir: शाकाहारी युवाओं को टीम में किया जाता है शामिल

टीम लीडर अर्जुन सोनी बताते है कि करीब छह साल पहले मैं अपने दोस्तों के साथ मंदिर में कीर्तन करने जाता था। कीर्तन के दौरान हमने इस तरह से भगवान की स्तुति करना शुरू किया।

मंदिर समिति के लोगों ने इसका विरोध किया, लेकिन मन में कुछ अलग करने का था तो दूसरी जगह प्रैक्टिस करने लगे। धीरे-धीरे हमारा समूह बढ़ता गया। लोगों ने हमारी अराधना करने के तरीके को खूब सराहा।


टीम में शामिल होने के लिए कड़े नियम हैं। हम ग्रुप में सिर्फ शाकाहारी युवाओं को ही शामिल करते हैं। वेबसाइट पर पहले रजिस्ट्रेशन कराना होता है।

इसके बाद टीम अप्लाई करने वाले का वैरिफिकेशन करती है। उसके चाल-चरित्र के बारे में अपने स्तर पर पता लगाते हैं। सब कुछ हमारी शर्तों के अनुसार निकलने के बाद ही नए सदस्य को अपने ग्रुप में शामिल किया जाता है।

Ram Mandir: भोपाल की डमरू टीम को अयोध्या से आया बुलावा, 108 सदस्यों की टीम करेगी भगवान राम की स्तुति
Ram Mandir: रामलला को लगाया जाएगा 151 बनारसी पान का भोग

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com