Ram Mandir: निमंत्रण ठुकराया पर भाजपा ने पोस्टर जारी कर लिखा, "पहचानें इन सनातन विरोधियों को"

Sanatan Opponents Posters: कांग्रेस द्वारा राम मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण अस्वीकार करने पर भाजपा लगातार हमलावर है। भाजपा ने पोस्टर जारी कर लिखा है "सनातन विरोधी इंडी गठबंधन"
Ram Mandir: निमंत्रण ठुकराया पर भाजपा ने पोस्टर जारी कर लिखा, "पहचानें इन सनातन विरोधियों को"

Sanatan Opponents Posters: अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर को लेकर पूरा देश उत्साहित है तो वहीं, इस पर सियासत भी गरम हो रही है। बता दें कि 22 जवरी को राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जानी है। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी समेत देश के तमाम हस्तियों को निमंत्रण भेजा गया है। हालांकि, कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए मिले निमंत्रण को ठुकरा दिया है। कांग्रेस द्वारा राम मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण अस्वीकार करने पर भाजपा लगातार हमलावर है। अब सनातन विरोधियों को लेकर भाजपा ने पोस्टर जारी किया है।

पहचानिए सनातन विरोधियों के चेहरे: BJP

भाजपा ने विपक्षी दलों के पर राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के निमंत्रण को ठुकराने को लेकर तीखा निशाना साधा है। भाजपा एक पोस्टर जारी किया है जिसमें कांग्रेस नेता सोनियां गांधी, मल्लिकार्जुन खरगे, अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं। इसके अलावा अखिलेश यादव, सीताराम येचुरी और ममता बनर्जी को भी इस पोस्टर में जगह दी गई है। पोस्टर को जारी करते हुए भाजपा ने लिखा- : "पहचानिए, राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के न्योते को ठुकराने वाले सनातन विरोधियों के चेहरे। सनातन विरोधी इंडी गठबंधन।"

सरयू में शरीर और मन को शुद्ध करें: इकबाल अंसारी

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था कि स्थापित गुरुओं ने प्राण प्रतिष्ठा का न्योता नहीं स्वीकारा है। वहीं, उन्होंने कहा है कि अधूरे मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा अशुभ होगी। इसके जवाब में इकबाल अंसारी ने कहा है- "मैं अयोध्या का हूं और अयोध्या की भूमि धार्मिक है, लोग शहर में अपनी श्रद्धा रखते हैं। विपक्षी दल हैं इसका विरोध कर रहे हैं। लेकिन हम इसका विरोध नहीं कर रहे हैं।"

अयोध्या भूमि विवाद मामले के पूर्व वादी इकबाल अंसारी ने कहा कि हम स्पष्ट रूप से कह रहे हैं कि अयोध्या आएं और सरयू नदी में पवित्र स्नान करें-अपने शरीर और मन को शुद्ध करें। विरोध करने की कोई जरूरत नहीं है, प्राणप्रतिष्ठा होने जा रही है। लोगों को आना चाहिए और उन्होंने अपने जीवन में जो कुछ किया उसका लेखा-जोखा भगवान के सामने रखें और उनसे आशीर्वाद लें।

कांग्रेस क्या बोली थी?

पिछले महीने राम जन्मभूमि ट्रस्ट की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी और कांग्रेस संसदीय दल के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी को अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण मिला था। हालांकि, कांग्रेस ने कहा कि 2019 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकर करते हुए एवं लोगों की आस्था के सम्मान में मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी बीजेपी और आरएसएस के इस आयोजन को निमंत्रण को ससम्मान अस्वीकार करते हैं।

Related Stories

No stories found.