Ramotsav: राम मंदिर निर्माण में सबसे अधिक सहयोग राजस्थान के दानदाताओं का, दिए 557 करोड़ रुपए

Ram Temple Ayodhya: राम मंदिर निर्माण के लिए चलाए गए निधि समर्पण अभियान में राजस्थान देश में अव्वल रहा। मंदिर निर्माण के लिए जोधपुर से गया सर्वाधिक 221 करोड़ रुपए का चंदा।
Ramotsav: राम मंदिर निर्माण में सबसे अधिक सहयोग राजस्थान के दानदाताओं का, दिए 557 करोड़ रुपए

Ramlala Pran Pratistha Ceremony: अयोध्या में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होने जा रही है। समारोह की तैयारी अब अंतिम चरण में है। राम मंदिर निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान चलाया गया था। अभियान के जरिए पूरे देशभर से राम मंदिर निर्माण के लिए धनराशि एकत्रित की गई। सुखद यह रहा कि अभियान में राजस्थान ने सर्वाधिक सहयोग दिया गया। यहां दानदाताओं ने अपनी तिजाेरियां खोल दी। प्रदेश से 557 करोड़ रुपए की राशि राम मंदिर निर्माण के लिए भेजी गई।

जोधपुर से गए 221 करोड़ रुपए

पूरे देश में सबसे ज्यादा सहयोग राशि राजस्थान में जोधपुर के लोगों ने दी है। जोधपुर से 221 करोड़ रुपए की राशि राम मंदिर निर्माण के लिए दी गई है। आबादी के हिसाब से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश से करीब 200 करोड़ से अधिक की भेजी गई। सबसे पहले 1 करोड़ रुपए की राशि भी जोधपुर से दी गई थी। इसमें समाजसेवी निर्मल गहलोत ने अभियान शुरू होने पर 1 करोड़ रुपए का चेक दिया था। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की योजना व विश्व हिन्दू परिषद् के नेतृत्व में भव्य राम मंदिर निर्माण कार्य के लिए देशभर में निधि समर्पण अभियान चलाया गया था। अभियान 21 फरवरी 2021 तक चला।

जयपुर से गए 2100 पीपे तेल

अयोध्या में होने वाले श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में जयपुर की भी अहम भागीदारी रहने वाली है। जयपुर में तैयार किए गए सरसों के तेल से अयोध्या की सीता रसोई में पकवान तैयार होंगे। प्रसाद और भोजन ने 2100 पीपे तेल जयपुर से अयोध्या भेजे गए। तेल की स्पेशल पैकिंग का कार्य किया गया। हर पैकिंग पर श्रीराम जन्म स्तुति लिखी गई है और उसकी विशेष सजावट भी की गई है। शोभायात्रा के रूप में इन पीपों को रवाना किया गया।

पूरे देश से मिले 5 हजार करोड़

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के लिए राम भक्तों ने दिल खोल पैसा दिया। मंदिर निर्माण के लिए 15 जनवरी से 27 फरवरी 2021 तक समर्पण निधि अभियान चलाया गया। अभियान के तहत पूरे देश में 9 लाख कार्यकर्ताओं ने 175 हजार टोलियां बनाकर घर-घर जाकर 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया। मंदिर निर्माण के लिए 5 हजार करोड़ से ज्यादा की राशि राम भक्तों ने दी। इसके अलावा चार क्विंटल से ज्यादा चांदी व कुछ लोगों ने सोना भी भेजा है।

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com