अब सभी मदरसों में गाया जाएगा 'जन गण मन', योगी सरकार ने जारी किया आदेश

उत्तर प्रदेश में ईद की छुट्टियों के बाद आज से मदरसें खुल रहें है। ऐसे में योगी सरकार ने नए फैसले का ऐलान किया है। आज से यूपी के सभी मदरसों में पढ़ाई शुरू होने से पहले राष्ट्रगान अनिवार्य रूप से गाया जाएगा।
अब सभी मदरसों में गाया जाएगा 'जन गण मन', योगी सरकार ने जारी किया आदेश

उत्तर प्रदेश में ईद की छुट्टियों के बाद आज से मदरसें खुल रहे है। ऐसे में योगी सरकार ने नए फैसले का ऐलान किया है। आज से यूपी के सभी मदरसों में पढ़ाई शुरू होने से पहले राष्ट्रगान अनिवार्य रूप से गाया जाएगा। यह आदेश राज्य के सभी मान्यता प्राप्त अनुदानित और गैर अनुदानित सभी मदरसों में लागू होगा। अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री दानिश आजाद अंसारी ने बताया कि इस आदेश लिए सभी को सूचित कर दिया गया हैं।

24 मार्च को हुई बैठक में हुआ था फैसला

मदरसों में राष्ट्रगान की अनिवार्यता के फैसले को पहले ही लागू किया जाना था। 24 मार्च को हुई बैठक में सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को इसे तुरंत लागू करने के लिए कहा गया था। लेकिन रमजान माह के दौरान मदरसों में 30 मार्च से 11 मई तक अवकाश घोषित था और 12 मई से नियमित कक्षाएं शुरू हुईं, लिहाजा यह आदेश आज से लागू हो गया है। अब सभी सरकारी गैर सरकारी अनुदानित मदरसों में दीनी दुआ के साथ मदरसों में राष्ट्रगान लगातार करवाया जाएगा।

राष्ट्रवाद की शिक्षा को मिलेगा बढ़ावा

उत्तर प्रदेश में इस वक्त कुल 16461 मदरसे हैं, जिनमें से 560 को सरकार से अनुदान प्राप्त होता है। पहले भी कुछ मदरसों में राष्ट्रगान गाया जाता था पर यह अनिवार्य नहीं था। प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री धर्मपाल सिंह ने पिछले महीने मदरसों में राष्ट्रवाद की शिक्षा देने पर जोर दिया था। इसके अलावा विभागीय राज्यमंत्री दानिश आजाद अंसारी ने भी कहा था कि सरकार चाहती है कि मदरसे के छात्र 'देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत' हों। ज़ाहिर है, इस आदेश को लागू करने के पीछे सरकार का इरादा राष्ट्रवाद की शिक्षा को बढ़ावा देना ही है।

14 मई से मदरसों में होंगी परीक्षा

24 मार्च को हुई बैठक में मदरसों में परीक्षा करवाएं जाने का भी फैसला लिया गया था। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् के स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां और कॉपियों का मूल्यांकन कार्य जारी हैं। जिसके कारण कॉलेज के खाली न होने से अब परीक्षाए मदरसों में कराये जाने का फैसला लिया गया हैं। यह परीक्षाएँ 14 मई से 27 मई तक होंगी। इसके अलावा मदरसा बोर्ड में अब 6 पेपर की परीक्षा होंगी, जिसमें कक्षा 1 से 8 तक के पाठ्यक्रम में दीनियात के अलावा हिंदी, अंग्रेजी, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान के प्रश्न पत्र शामिल होंगे।

सुनिधि शुक्ला की रिपोर्ट

CSK vs MI 2022: मुबंई में पोलार्ड के ना होने से क्या मिलेगा चेन्नई को फायदा?

Related Stories

No stories found.