टीएमसी के खिलाफ बीजेपी का ट्रंप कार्ड, महुआ मोइत्रा को कड़ी टक्कर देंगी राजमाता

Amrita Roy को बीजेपी ने पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर सीट से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार का टिकट दे दिया है। इतिहास के पन्नों को पलटा जाए तो आप पाएंगे कि अमृता रॉय को कृष्णागर के राजबाड़ी में राजमाता के नाम से जाना जाता है।
टीएमसी के खिलाफ बीजेपी का ट्रंप कार्ड, महुआ मोइत्रा को कड़ी टक्कर देंगी राजमाता
टीएमसी के खिलाफ बीजेपी का ट्रंप कार्ड, महुआ मोइत्रा को कड़ी टक्कर देंगी राजमाता

Amrita Roy को बीजेपी ने पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर सीट से लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार का टिकट दे दिया है।

इतिहास के पन्नों को पलटा जाए तो आप पाएंगे कि अमृता रॉय को कृष्णागर के राजबाड़ी में राजमाता के नाम से जाना जाता है।

बंगाल खासकर नदिया जिले के कृष्णानगर ने अमृता रॉय के राजपरिवार कि अहम भूमिका रही है।

बीजेपी के पांचवी लिस्ट में 111 कैंडिडेट्स के नाम रहे ,उनमें से एक नाम अमृता का था। इस लिस्ट में कई नामचीन चेहरों के नाम शामिल रहें।

इस सीट से टीएमसी ने महुआ मोइत्रा को उतारा है ,इसका सीधा मतलब ये है कि इस सीट पर महुआ मोइत्रा को राजमाता यानि अमृता टक्कर देंगी।

इस दांव को बीजेपी का टीएमसी के खिलाफ खेला ट्रंप कार्ड माना जा रहा है। पिछले लोकसभा चुनाव में महुआ ने इस सीट से जीत को अपने नाम किया था।

कृष्णानगर के राजबाड़ी की राजमाता है अमृता रॉय

सुवेंदु अधिकारी की मौजूदगी में 20 मार्च को अमृता ने बीजेपी ज्वाइन किया था ,अमृता कृष्णानगर के नामचीन चेहरों में से एक है। यह एक राज घराने से तालुक्कात रखती हैं। बंगाल खासकर नदिया जिले के राजबाड़ी में इनका परिवार की अहम भूमिका रही है। 18वी शताब्दी में राजा कृष्णा चंद्र देव के द्वारा बंगाल में कला को बढ़ावा देने के लिए राजपरिवार द्वारा काफी काम किया गया।

कृष्णानगर में सीट की लड़ाई होगी दिलचस्प

अब अमृता के चुनाव में उतरने से लोकसभा सीट की लड़ाई काफी दिलचस्प हो जाएगी। आज भी कृष्णागर के लोगों को राजपरिवार के द्वारा किये गए सभी काम याद हैं। उम्मीद है की महुआ मोइत्रा को अमृता कांटे की टक्कर देंगी।

टीएमसी के खिलाफ बीजेपी का ट्रंप कार्ड, महुआ मोइत्रा को कड़ी टक्कर देंगी राजमाता
J&K: बदलते कश्मीर की तस्वीर? गिलानी की पोती और शब्बीर शाह की बेटी ने अलगाववाद से बनाई दूरी

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com