West Bengal: बंगाल हिंसा पर फूट-फूटकर रोईं बीजेपी MP, कहा- TMC के गुंडों ने उम्मीदवार को नंगा कर घुमाया, हाथों में थी बंदूकें; देखें Video

West Bengal News: लॉकेट चटर्जी ने पत्रकारों को बताया कि “साउथ पांचला की इस घटना का वीडियो नहीं है, क्योंकि सभी के हाथों में बंदूकें थीं। बंगाल में पंचायत के चुनाव नहीं बल्कि खून के चुनाव हुए।”
बंगाल की घटना का जिक्र करते हुए रो पड़ीं BJP सांसद लॉकेट चटर्जी
बंगाल की घटना का जिक्र करते हुए रो पड़ीं BJP सांसद लॉकेट चटर्जी

PC of Bengal BJP Leaders: हम लोग भी महिला हैं। हमलोग भी देश की बेटी हैं। हम लोग कहां जाएंगे। यह सवाल है पश्चिम बंगाल से बीजेपी की सांसद लॉकेट चटर्जी का। शुक्रवार (21 जुलाई 2023) को मीडिया से बात करते हुए वह फूट-फूटकर रोने लगीं।

सांसद चटर्जी पार्टी के बंगाल अध्यक्ष सुकांत मजूमदार के साथ पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा की घटनाओं पर बात कर रहीं थी। सांसद चटर्जी ने 8 जुलाई को मतदान के दिन एक महिला उम्मीदवार को नंगा कर गांव में घुमाए जाने की घटना का जिक्र किया।

सांसद चटर्जी ने पत्रकारों से कहा, “आपलोग बताइए हम लोग कहा जाएंगे। हम भी महिलाएं हैं। हम भी अपनी बेटियों को बचाना चाहते हैं। हम भी देश की बेटियां हैं। पश्चिम बंगाल देश का एक हिस्सा है।

पीएम मोदी ने कल मणिपुर घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि हर राज्य में महिला सुरक्षा के लिए कानून-व्यवस्था का काम होना चाहिए। हमारे लिए भी आप लोग कुछ बात करें। हमारी बेटियां कहां जाएंगी।”

Since Independence के इस वीडियो में सुनें BJP सांसद ने और क्या-क्या कहा...

बंगाल की हिंसा पर कांग्रेस की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए चटर्जी ने कहा कि राज्य में यह सब कुछ तब हो रहा है जब एक महिला मुख्यमंत्री (ममता बनर्जी) हैं। उन्होंने पूछा कि महिला प्रत्याशी को नग्न कर जो अत्याचार किए गए क्या उसकी जांच होगी?

चटर्जी ने कहा कि साउथ पांचला की इस घटना का वीडियो नहीं है, क्योंकि सभी की हाथों में बंदूकें थीं। उन्होंने कहा, बंगाल में पंचायत के चुनाव नहीं बल्कि खून के चुनाव हुए। इसमें बहुत हिंसा और महिलाओं के साथ अत्याचार हुए।

ममता बनर्जी एक महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद भी महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोक नहीं रही हैं।

सुकांत मजूमदार ने भी बताई बंगाल की भयावह स्थिति

वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि मणिपुर में जो घटना हुई, उसे लेकर उत्तेजना पैदा करने की कोशिश की जा रही है। उन्होंने इसे दुःखद घटना बताते हुए इसकी कड़ी निंदा की और कहा कि कहीं भी ऐसी घटना नहीं होनी चाहिए।

इसके बाद उन्होंने पश्चिम बंगाल के हावड़ा स्थित साउथ पांचला की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि वहाँ भाजपा के लिए पंचायत चुनाव लड़ने वाली एक महिला को नग्न कर घुमाया गया।

सुकांत मजूमदार ने पूछा कि क्या ये मणिपुर से कम दुःखद घटना है? उन्होंने कहा कि अंतर सिर्फ इतना है कि इसका वीडियो उपलब्ध नहीं है, क्योंकि ‘ममता बनर्जी के गुंडे’ किसी को वीडियो बनाने नहीं दे सकते।

इस दौरान उन्होंने अख़बारों के हवाले से 2 घटनाओं का जिक्र किया, जिनमें से एक उत्तरी बंगाल स्थित अलीपुरद्वार की है और एक दक्षिणी बंगाल के बीरभूम की। उन्होंने बताया कि एक महिला को नग्न कर के और गदहे की पीठ पर बिठा कर घुमाया गया।

जानें पांचला की घटना का पूरा सच

ANI की रिपोर्ट के अनुसार पांचला में महिला उम्मीदवार को पीटा गया। सरेआम छेड़छाड़ की गई। जागरण की रिपोर्ट के अनुसार एक महिला उम्मीदवार ने तृणमूल कंग्रेस के कार्यकर्ताओं पर छेड़छाड़ और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए नामजद शिकायत की है।

कहा है कि 8 जुलाई को उसे नंगा कर पूरे गांव में घुमाया गया। महिला ने बताया है कि टीएमसी के करीब 40 से 50 गुंडों ने उसके साथ मारपीट की। उसके सीने और सिर पर डंडे से हमला किया। उसे मतदान केंद्र के बाहर फेंक दिया।

रिपब्लिक की रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित महिला के अनुसार उसके कपड़े फाड़ने की कोशिश की गई। उसे नग्न होने के लिए मजबूर किया गया। उसे गलत तरीके से छुआ गया और सरेआम छेड़छाड़ की गई।

बंगाल भाजपा के सह प्रभारी अमित मालवीय ने ट्वीट कर दावा किया है इस मामले में एफआईआर भी तब दर्ज की गई, जब बीजेपी ने इसके लिए दबाव बनाया।

logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com