Google ने NITI आयोग के पूर्व अधिकारी को न्यू इंडिया पॉलिसी हेड पर नियुक्त किया- रिपोर्ट

Google Appoints New India Policy Head : अर्चना गुलाटी (Archana Gulati) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फेडरल थिंक-टैंक और देश के एंटीट्रस्ट वॉचडॉग में काम कर चुकी हैं। ज्ञात हो कि दुनिया की बड़ी टेक कंपनियों की ओर से भारत सरकार के कई अधिकारियों को काम पर नियु​क्त किया है।
Google ने NITI आयोग के पूर्व अधिकारी को न्यू इंडिया पॉलिसी हेड पर नियुक्त किया- रिपोर्ट

Google Appoints New India Policy Head: Alphabet Inc के Google ने भारत में एक नए पब्लिक पॉलिसी हेड को नियुक्त किया है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की मानें तो भारत में गूगल के लिए हायर की गई इस नई पब्लिक पॉलिसी हेड का नाम अर्चना गुलाटी है। बता दें कि गुलाटी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फेडरल थिंक-टैंक और देश के एंटीट्रस्ट वॉचडॉग में काम कर चुकी हैं। ज्ञात हो कि दुनिया की बड़ी टेक कंपनियों की ओर से भारत सरकार के कई अधिकारियों को काम पर नियु​क्त किया है।

PM मोदी के थिं टैंक में जॉइंट सक्रेटरी के तौर पर सेवाएं दे चुकीं

अर्चना गुलाटी
अर्चना गुलाटी लंबे समय से भारत सरकार में अधिकारी हैं, गुलाटी ने मार्च 2021 तक नीति आयोग, पीएम मोदी के संघीय थिंक टैंक में डिजिटल कम्यूनिकेशन के लिए जॉइंट सेक्रेटरी के रूप में कार्य किया है। ये एक निकाय है जो सरकारी नीति निर्माण के लिए जिम्मेदार है। इससे पहले, 2014 और 2016 के बीच, उनके लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, उन्होंने भारत के एंटीट्रस्ट बॉडी, कॉम्पीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया में एक सीनियर अधिकारी के रूप में काम किया है।

राजीव अग्रवाल भी रहे मेटा के पॉलिसी हेड

इससे पहले साल 2021 में फेसबुक ( जिसका नाम अब मेटा प्लेटफॉर्म कर​ दिया गया है) ने राजीव अग्रवाल को अपॉइंट किया था। ज्ञातव्य है कि राजीव अग्रवाल ने कई वर्षों तक भारत की संघीय और राज्य सरकारों में कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है। कंपनी ने उन्हें अपना पॉलिसी हेड भी बनाया है।

आनंद झा को भी वॉलमार्ट ने बनाया था अधिकारी

एक अन्य पूर्व भारतीय एंटीट्रस्ट और फेड्रल सरकार के अधिकारी आनंद झा को साल 2019 में वॉलमार्ट का पदाधिकारी बनाया गया था। यहीं पर उन्होंने वॉलमार्ट के लिए भारत के पब्लिक पॉलिसी हेड के रूप में कार्य किया था। मौजूदा समय वो भारत में ब्लैकस्टोन के लिए सरकार से रिलेशनशिप बनाए रखने का काम करते हैं।

Related Stories

No stories found.