Union Budget 2019 LIVE : निवेश और इंफ्रास्ट्रक्टर पर जोर, साथ ही बड़े सुधार भी

निर्मला ने अब तक चली आ रही परंपरा को पूरी तरह से बदल दिया।
Union Budget 2019 LIVE : निवेश और इंफ्रास्ट्रक्टर पर जोर, साथ ही बड़े सुधार भी

बजट पेश करने से पहले, अब तक आप सभी वित्त मंत्रियों को लाल ब्रीफकेस हाथ में लेकर संसद भवन जाते हुए देखेंगे। संसद भवन जाने से पहले वित्त मंत्री अपने बजट की कोर टीम के साथ मंत्रालय के बाहर फोटो खिंचवाते रहे हैं। इस बार भी, देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपनी कोर टीम के साथ फोटो खिंचवाई, लेकिन इस बार, उनके हाथ में, लाल ब्रीफकेस के स्थान पर लाल रंग का मखमली पैकेट था। निर्मला ने अब तक चली आ रही परंपरा को पूरी तरह से बदल दिया। इसे बजट नहीं बल्कि बहीखाता कहा गया।

पीएम नरेंद्र मोदी के दूसरे कार्यकाल का पहला पूर्ण बजट पेश करने से पहले, जब वित्त मंत्री निर्मला मंत्रालय से बाहर गईं, तो वित्त मंत्रियों के हाथों में एक संक्षिप्त ब्रीफकेस नहीं था। निर्मला के हाथ में ब्रीफकेस की जगह लाल रंग का अशोक स्तंभ का एक पैकेट था। यह पहली बार है जब अटैची के बजाय बजट को लाल कपड़े में रखा गया है। निर्मला सीतारमण ने बजट को लाल कपड़े में क्यों लपेटा, क्योंकि यह मुख्य आर्थिक सलाहकार केवी सुब्रमण्यन ने समझाया था। उन्होंने कहा, 'यह एक भारतीय परंपरा है। यह पश्चिमी सोच का गुलामी से दूर जाने का प्रतीक है। इससे बजट की बचत नहीं होती है। '

बता दें कि आजादी के बाद देश का पहला बजट तत्कालीन वित्त मंत्री आर.के. शनमुगम शेट्टी ने 26 नवंबर, 1947 को इसे प्रस्तुत किया। वह फिर चमड़े के बैग में बजट दस्तावेज लेकर आए। बता दें कि संसद में बजट भाषण से पहले वित्त मंत्री को मीडिया के सामने इस ब्रीफकेस के साथ अटैची पकड़े हुए देखा गया है। लेकिन इस बार इस व्यवस्था को वित्त मंत्री निर्मला ने बदल दिया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि संविधान में 'बजट' शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया है। इसे वार्षिक वित्तीय विवरण कहा गया है। इस बैग के साथ 'बजट' शब्द भी जुड़ा हुआ है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com