Met Gala 2022 में Emma Chamberlain ने पटियाला के पूर्व महाराजा का हार पहना‚ यूजर्स ने लगाई क्लास, आखिर क्या है हार का रहस्य और कितनी है यूजर्स के आरोप में सच्चाई?

एमा मेट गाला में एक रॉयल हिस्टोरिकल नेकपीस (Patiala Necklace) पहनकर पहुंची थी। बताया जा रहा है कि इस नेकपीस का ताल्लुक इंडिया से हैं। दावा किया जा रहा है कि ये नेकपीस भारत में पटियाला के महाराजा से कई साल पहले चुरा लिया गया था।
Met Gala 2022 में Emma Chamberlain ने पटियाला के पूर्व महाराजा का हार पहना‚ यूजर्स ने लगाई क्लास, आखिर क्या है हार का रहस्य और कितनी है यूजर्स के आरोप में सच्चाई?
Photo: Reuters

हर साल मेट गाला सेलिब्रिटी के अजीब फैशन सेंस के चलते लाइमलाइट में रहता है। वहीं इस साल की बात करें तो मेट गाला 2022 इवेंट में सबसे ज्यादा सुर्खियां किम कार्दशियन ने हासिल की, उनके गजब के ट्रांसफॉर्मेशन ने वहां मौजूद हर किसी को चौंका दिया था। इन सबके बीच पॉपुलर इंटरनेट सेंसेशन एमा केम्बरलेन (Emma Chamberlain) ने भी मेट गाला में अपने फेशनेबल अंदाज से हर किसी का सेंटर एक्ट्रेशन बनी रहीं।

रॉयल हिस्टोरिकल नेकपीस से सोशल मीडिया पर बवाल

दूसरी खास बात ये है कि एमा मेट गाला में एक रॉयल हिस्टोरिकल नेकपीस पहनकर पहुंची थी। बताया जा रहा है कि इस नेकपीस का ताल्लुक इंडिया से हैं। दावा किया जा रहा है कि ये नेकपीस भारत में पटियाला के महाराजा से कई साल पहले चुरा लिया गया था। यूजर्स ने एमा पर आरोप लगाएं हैं कि जो नेकपीस पहनकर उन्होंने मेट गाला में रैम्पवॉक किया वो चोरी किया हुआ था। ऐसे में अब एमा की खूबसूरत कॉस्ट्यूम से ज्यादा उनके नेकपीस को चुराया हुआ बता कर उनकी सोशल मीडिया पर फजीहत हो रही है।

क्या चोरी किया हुआ नेकपीस था?

मेट गाला 2022 में एमा Louis Vuitton के कॉस्ट्यूम में नजर आई थीं। फुल स्लीव क्रॉप टॉप और वाइट स्कर्ट में एमा काफी खूबसूरत दिख रहीं थीं। लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा में उनका नेकपीस रहा। ये दावा किया जा रहा है कि एमा ने जो नेकपीस पहन रखा था वो पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह का नेकपीस था, जो एक समय बाद महल से चोरी कर लिया गया था। यही कारण है कि अब सोशल मीडिया पर एमा के खूबसूरत लुक्स से ज्यादा उनके नेकपीस की चर्चा सोशल मीडिया पर हो रही है।
इस बात में कितनी सच्चाई?
बहरहाल यूजर्स एमा को खूब कोस रहे हैं। यदि पटियाला के पूर्व महाराजा के फोटो पर भी नजर डालें तो ये वहीं गहना नजर आ रहा है जो एमा ने मेट गाला में पहना था। इस बात में कितनी सच्चाई है कि यूजर्स जो एमा पर आरोप लगा रहे हैं वो सही हैं या नहीं। इसकी असलियत तब सामने आ सकती है जब ज्वैलरी कंपनी इस मुद्दे को गंभीरता से लेकर सफाई पेश करे।

सोशल मीडिया पर यूजर्स ने जताई कड़ी आपत्ति

सोशल मीडिया पर एमा की नेकपीस पहने हुए फोटोज वायरल होने के बाद यूजर्स उन्हें खूब कोस रहे हैं। कई यूजर्स का कहना है कि एमा ने जो नेकपीस वियर किया हुआ है वो भारत से चुराया गया था। यूजर ने लिखा, ' #Thanks Cartie। ये पटियाला के पूर्व महाराजा के गहनों की फेहरिस्त में शामिल हैं। ये भारतीय इतिहास में दर्ज चुराई हुई ज्वैलरी है, ना कि किसी सेलेब्रिटी मॉडल को दिया जाने वाला कोई फैंसी पीस। ये कई लेवल पर अपमानजनक है!' दूसरे यूजर ने लिखा, 'जब चुराए हुए प्रोडक्ट को ग्लोबल स्टेज पर फ्लॉन्ट किया जाता है।'

महाराज के इस नेकपीस का राज क्या था

एसा माना जाता है कि पटियाला के महाराजा के पास दुनिया का सातवां सबसे बड़ा हीरा डी बीयर्स था। ये हीरा उनके नेकलेस के बीचोंबीच जड़ा हुआ था। उन्होंने इस हीरे को मशहूर कंपनी कार्टियर से परचेज किया था। ये भी दावा किया जाता है महाराजा ने ही 1928 में कंपनी को नेकलेस बनाने का काम दिया था। इसके बाद 1948 में महाराजा के बेटे यदविंदर सिंह इसे पहना करते थे, लेकिन ये नेकलेस एक दिन महल से अचानक गायब हो गया।

जब नेकपीस मिला तो हीरा था गायब!

कई साल गुजरे और ये नेकलेस करीब 50 साल बाद कार्टियर के रिप्रेजें​टेटिव Eric Nussbaum ने लंदन में इसे ढूंढ निकाला था। उस समय इस नेकलेस में डी बीयर्स (De Beers) के स्टोन्स और बर्मिज रूबीज जड़े हुए नहीं थे। ऐसे में कार्टियर कंपनी ने इस नेकपीस को डी बीयर्स और दूसरे ओरिजनल स्टोंस के बिना ही फिर से जोड़ने पर विचार किया था।

Related Stories

No stories found.