सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, 'सुपर टैक्स' की घोषणा के बाद विरोध शुरु

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ द्वारा उद्योगों पर 'सुपर टैक्स' की घोषणा के बाद, निवेशकों को असहज करने के बाद पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज (PSX) 2,000 अंक से अधिक गिर गया
सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, 'सुपर टैक्स' की घोषणा के बाद विरोध शुरु

एक तरफ श्रीलंका अपने इतिहास के सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा है तो दूसरी तरफ पाकिस्तान भी आर्थिक संकट से जूझ रहा है। ऐसे में पड़ोसी देश की आर्थिक सेहत सुधारने के लिए पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने उद्योगों पर 'सुपर टैक्स' लगाने का ऐलान किया है। इसके बाद पिछले हफ्ते पाकिस्तानी शेयर बाजार एक झटके में डूब गया। वहीं, पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान भी इसके खिलाफ सामने आए हैं।

बेंचमार्क केएसई-100 इंडेक्स 2,053 अंक या 4.8 फीसदी गिर गया
पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ द्वारा उद्योगों पर 'सुपर टैक्स' की घोषणा के बाद, निवेशकों को असहज करने के बाद पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज (PSX) 2,000 अंक से अधिक गिर गया। दरअसल, पीएम शरीफ द्वारा बड़े पैमाने के उद्योगों पर नए टैक्स की घोषणा के बाद, पाकिस्तान का शेयर बाजार सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को दोपहर में केवल 22 मिनट के कारोबार के बाद 2,000 अंक या लगभग पांच प्रतिशत से अधिक गिर गया। शरीफ की घोषणा के कुछ ही क्षण बाद बेंचमार्क केएसई-100 इंडेक्स 2,053 अंक या 4.8 फीसदी गिर गया।

इमरान के पास शाहबाज सरकार को घेरने का बड़ा मुद्दा

इस सुपर टैक्स की घोषणा के बाद पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान के सामने भी मौजूदा शाहबाज सरकार को घेरने का बड़ा मुद्दा खड़ा हो गया है। उन्होंने बिना समय गंवाए सरकार के इस फैसले के खिलाफ 2 जुलाई को विरोध सभा आयोजित करने का ऐलान किया है। यह बैठक इस्लामाबाद के परेड ग्राउंड में आयोजित की जाएगी. इमरान खान ने कहा है कि शाहबाज सरकार के सुपर टैक्स से उद्योगों पर दबाव बढ़ेगा और देश में बेरोजगारी बढ़ेगी।

10 फीसदी सुपर टैक्स लगाने की घोषणा

प्रधानमंत्री शरीफ ने शुक्रवार को सीमेंट, स्टील और ऑटोमोबाइल जैसे बड़े उद्योगों पर 10 फीसदी सुपर टैक्स लगाने की घोषणा की थी। देश में नए टैक्स का ऐलान करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार के इस कदम का मकसद देश में लगातार बढ़ रही महंगाई से निपटना और नकदी की कमी से जूझ रहे देश को दिवालियेपन से बचाना है। राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में, प्रधान मंत्री ने कहा कि उच्च निवल संपत्ति वाले व्यक्ति भी गरीबी उन्मूलन कर के अधीन होंगे।

सुपर टैक्स नीति ने शेयर बाजार में कोहराम

टॉपलाइन सिक्योरिटीज के रजा जाफर ने कहा कि शुक्रवार को घोषित सुपर टैक्स नीति ने शेयर बाजार में कोहराम मचा दिया और निवेशकों का भरोसा डगमगा गया। नकारात्मक बाजार प्रतिक्रिया आश्चर्यजनक नहीं है, उन्होंने कहा, क्योंकि यह नया कर कॉर्पोरेट मुनाफे को नुकसान पहुंचाने वाला है। आरिफ हबीब कॉरपोरेशन के एहसान मेहंटी ने कहा कि पीएसएक्स (पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज) पर भारी दबाव देखा गया जब प्रधानमंत्री ने राजकोषीय घाटे में अंतर को पाटने के लिए उद्योगों पर एक साल के लिए 10 प्रतिशत सुपर टैक्स की घोषणा की।

सबसे बड़े आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, 'सुपर टैक्स' की घोषणा के बाद विरोध शुरु
Monkeypox महामारी घोषित! वर्ल्ड हेल्थ नेटवर्क ने WHO को दिए संकेत, भारत को भी सतर्क होने की जरुरत

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com