Zara अपने विज्ञापन को लेकर पड़ा विवादों में, जानें वजह

लाइम लाइट बटोरने के लिए बहुत सारी कंपनियां विवादित मुद्दों पर विज्ञापन बना देती है। जिसे लेकर विवाद खड़ा हो जाता है। ऐसा ही एक मामला बहुचर्चित ब्रांड जारा के साथ देखने को मिल रहा है। गाजा और इजराइल के बीच हुए नरसंहार युद्ध की असंवेदनशील तस्वीरों का इस्तेमाल जारा ने अपने विज्ञापन में किया है।
Zara अपने विज्ञापन को लेकर पड़ा विवादों में, जानें वजह
Zara अपने विज्ञापन को लेकर पड़ा विवादों में, जानें वजह

लाइम लाइट बटोरने के लिए बहुत सारी कंपनियां विवादित मुद्दों पर विज्ञापन बना देती है। जिसे लेकर विवाद खड़ा हो जाता है। ऐसा ही एक मामला बहुचर्चित ब्रांड जारा के साथ देखने को मिल रहा है।

गाजा और इजराइल के बीच हुए नरसंहार युद्ध की असंवेदनशील तस्वीरों का इस्तेमाल जारा ने अपने विज्ञापन में किया है। इस विज्ञापन को देखने के बाद लोगों का गुस्सा जारा पर भड़क उठा। इसी के साथ ही जारा को बायकॉट करने की मांग हो रही है।

सोशल मीडिया पर जारा को बायकॉट करने की उठी मांग

सोशल मीडिया पर जारा को बायकॉट करने की मांग उठ चुकी है। इसको लेकर सोशल मीडिया पर लोग कंमेट कर रहे हैं। कई सारी तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आयी थी।

एक तस्वीर में दिखाया गया है कि एक मुस्लिम मां अपने बच्चे की लाश जो एक सफेद कफन से लिपटी है उसे गोद में लेकर रो रही है।

इस तस्वीर के आधार पर सफेद कफन की लाश को लेकर जारा की मॉडल अपने फैशन ब्रांड का प्रचार कर रही है। मॉडल ने लाश को कंधे पर ले रखा है। यह विज्ञापन मानवीय तौर पर बेहद ही अमानवीय है।

जारा का विवादों से रहा है पुराना नाता

इसको लेकर लोग जारा की मानसिकता पर सवाल उठा रहे हैं और ब्रांड के बायकॉट की मांग कर रहे हैं। "द जैकेट" नामक अभियान में ज़ारा ने मॉडल क्रिस्टन मैकमेनामी को सफेद कपड़े और प्लास्टिक में लिपटे पुतलों के साथ पोज देते हुए दिखाया गया है।

रिटेलर का दावा है कि यह जानबूझकर डिज़ाइन किया गया है। जिसका उद्देश्य परिधान की बहुमुखी प्रतिभा को उजागर करना है।

बता दें कि इससे पहले जारा एक बार और विवादों में आ चुकी है। 2021 में कंपनी को डिजाइनर वैनेसा पेरिलमैन द्वारा सोशल मीडिया पर फिलिस्तीन विरोधी कमंटे करने के बाद लोगों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

Zara अपने विज्ञापन को लेकर पड़ा विवादों में, जानें वजह
Article 370 पर सरकार के कदम पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई मुहर,PM मोदी ने फैसले को बतााया ऐतिहासिक

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com