5G स्पेक्ट्रम नीलामी का सातवां दिन, बोली 1.50 लाख करोड़ रुपए के पार

दूरसंचार विभाग ने इस नीलामी में कुल 4.3 लाख करोड़ रुपये के 72 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम बेचने की पेशकश की है। इस नीलामी में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के अलावा अडानी इंटरप्राइजेज भी हिस्सा ले रही है
5G IN INDIA
5G IN INDIA

भारत में 5जी स्पेक्ट्रम की पहली नीलामी सोमवार को सातवां दिन है इस दौरान उत्तर प्रदेश पूर्वी सर्किल के लिए जियो और एयरटेल समेत कई कंपनियां 1800 मेगाहर्ट्ज के लिए बोली लगा रही हैं। इससे पहले रविवार को बोली लगाने के छठे दिन कुल स्पेक्ट्रम की बिक्री 1.50 लाख करोड़ रुपये के माइलस्टोन को पार कर गई थी।

बोली 1.50 लाख करोड़ रुपए के पार

अत्यंत उच्च गति वाली इंटरनेट सेवा देने में सक्षम 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी के छह दिनों में अब तक 1,50,130 करोड़ रुपये की बोली लग चुकी हैं। रविवार को हुई सात नए दौर की बोली में 163 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी देखी गई।

दूरसंचार विभाग ने इस नीलामी में कुल 4.3 लाख करोड़ रुपये के 72 गीगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम बेचने की पेशकश की है। इस नीलामी में रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया के अलावा अडानी इंटरप्राइजेज भी हिस्सा ले रही है।

38वें दौर की बोली जारी

सोमवार को नीलामी का सातवां दिन है और फिलहाल 38वें दौर की बोली चल रही है। सूत्रों ने कहा कि यूपी पूर्वी सर्कल, जिसमें लखनऊ, इलाहाबाद, वाराणसी, गोरखपुर और कानपुर शामिल हैं, शनिवार को अपेक्षाकृत कम मांग के बाद एक बार फिर 1800 मेगाहर्ट्ज की बोली में तेजी देखी।

रिलायंस जियो और भारती एयरटेल जैसी कंपनियों के बीच कड़ी टक्कर

यूपी ईस्ट में 10 करोड़ से ज्यादा मोबाइल ग्राहक हैं। माना जा रहा है कि इस दौरान रिलायंस जियो और भारती एयरटेल जैसी कंपनियों के बीच स्पेक्ट्रम को लेकर कड़ी टक्कर है।

दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने हाल ही में कहा था कि 5G नीलामी इस बात पर प्रकाश डालती है कि उद्योग विस्तार करना चाहता है और विकास के चरण में प्रवेश कर गया है। उन्होंने कहा कि स्पेक्ट्रम के लिए निर्धारित आरक्षित मूल्य उचित है और यह नीलामी के परिणाम से साबित होता है।

5G IN INDIA
MAHARASHTRA: चॉल में भ्रष्टाचार, राउत गिरफ्तार, जानिए क्या है पात्रा चॉल घोटाला ?

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com