Corona : एक ही सिरिंज से 39 छात्रों को लगाई कोरोना वैक्सीन, कम्पाउंडर के खिलाफ FIR दर्ज

मध्यप्रदेश के सागर स्थित जैन हायर सैकंडरी स्कूल में मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव के दौरान एक कंपाउंडर ने 15 साल से अधिक उम्र वाले 39 बच्चों को एक ही सिरिंज से वैक्सीन लगा कर बड़ी आफ़त को बुलावा दे दिया।मामले का पता चलते ही गुस्साए अभिभावकों ने कम्पाउंडर के खिलाफ FIR दर्ज करवा दी।
Corona : एक ही सिरिंज से 39 छात्रों को लगाई कोरोना वैक्सीन, कम्पाउंडर के खिलाफ FIR दर्ज

िमध्यप्रदेश के सागर स्थित जैन हायर सैकंडरी स्कूल में मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव के तहत 15 साल से अधिक आयुवर्ग के बच्चों को कोरोना वैक्सीन का डोज दिया जा रहा था तभी कंपाउंडर ने बड़ी लापरवाही करते हुए 39 बच्चों को एक ही सिरिंज से वैक्सीन लगाई। महामारी के इस दौर में जब कोरोना और मंकीपॉक्स जैसी तेजी से फैलने वाली बीमारियों से लोगों में खौफ का माहौल है तब कम्पाउंडर की यह लापरवाही चिंताजनक है।

मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव के दौरान हुई लापरवाही

सागर स्थित जैन हायर सेकेंडरी स्कूल में मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव के तहत 15 साल से अधिक उम्र वाले कक्षा नवीं से 12वीं की कक्षाओं में पढ़ रहे बच्चों को कोरोना वैक्सीन दी जा रही थी। इस दौरान जितेंद्र अहीरवार नामक कंपाउंडर ने एक ही सिरिंज से 39 बच्चों को कोरोना वैक्सीन लगाई। जब कुछ बच्चों के पैरेंट्स का ध्यान इस ओर गया कि बच्चों को एक ही सिरिंज से वैक्सीन दिया जा रहा है तो अभिभावकों ने गुस्सा जाहिर किया और विरोध करना शुरू कर दिया।

सेक्शन 336 के तहत दर्ज हुआ मामला

जिला अधिकारी ने बताया कि लापरवाही करने वाले कंपाउंडर की पहचान जितेंद्र अहिरवार के तौर पर की गई है। गोपाल गंज पुलिस स्टेशन में सेक्शन 336 (Rash or negligent act endangering human life or personal safety of others) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। बता दें कि स्वास्थ्य अधिकारियों ने उन 39 बच्चों की जांच की और इनके रिपोर्ट के अनुसार 19 बच्चे स्वस्थ है और बाकी बच्चों के रिपोर्ट अभी आने हैं।

CMHO करेंगे मामले की जाँच

सागर के इंचार्ज कलेक्टर ने इस मामले की पड़ताल की जिम्मेवारी क्षितिज सिंघल और डिस्ट्रिक्ट चीफ मेडिकल एंड हेल्थ आफिसर (CMHO) डा. डीके गोस्वामी को सौंप दिया। मौके पर मौजूद लोगों ने गोस्वामी को बताया कि वैक्सीन देने वाले कंपाउंडर ने 39 बच्चों को एक ही सिरिंज से कोरोना वैक्सीन की डोज दी है। पैरेंट्स के प्रदर्शन के बाद CMHO स्कूल पहुंचे लेकिन तब तक अहीरवार वहां से निकल गया था। आरोपी ने अपना मोबाइल फोन बंद कर दिया है।

सिरिंज की कीमत बच्चों की जान से ज्यादा ?

एक बार फिर कोरोना अपना रंग दिखने लगा बीमारियां चरम सीमा पर है उस समय एक ही सीरिंज से बच्चों को डोज लगाना एक बड़ी भयावक स्थिति बुलावा देना जैसा है। क्या अब एक सिरिंज की कीमत बच्चों की जान से ज्यादा हो गई है ? नहीं, तो फिर इतनी लापरवाही क्यों ? जिम्मेवार विभाग को ऐसी मामलो को गंभीरता से लेकर कार्रवाही करनी चाहिए।

Corona : एक ही सिरिंज से 39 छात्रों को लगाई कोरोना वैक्सीन, कम्पाउंडर के खिलाफ FIR दर्ज
'मजहबी अत्याचार' पर VHP का वार, मिलिंद बोले- हिंसा के विरुध्द प्रतिक्रिया के लिए हिंदू नहीं होंगे जिम्मेदार

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com