Bully bai : 100 प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने की क्या है साजिश ?, मुंबई सहित कई जगहों पर दर्ज हुआ केस

एक ऐप के जरिए इंटरनेट पर संगठित तरीके से मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाया गया। इस मामले को लेकर दिल्ली से लेकर मुंबई तक महिलाओं ने शिकायत दर्ज कराई है
Bully bai : 100  प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने की क्या है साजिश ?, मुंबई सहित कई जगहों पर  दर्ज हुआ केस

file photo :muslim woman

एक ऐप के जरिए इंटरनेट पर संगठित तरीके से मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाया गया। इस मामले को लेकर दिल्ली से लेकर मुंबई तक महिलाओं ने शिकायत दर्ज कराई है|गिटहब पर 'बुली बाई' नाम का ऐप बनाकर सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें डाली गईं। फिर उनकी 'बोली' लगाई गई।

मामला सामने आने के बाद केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि ऐप बनाने वाले यूजर को गिटहब पर ब्लॉक कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई पर भी चर्चा हो रही है, लेकिन सवाल यह है कि मुस्लिम महिलाओं को इंटरनेट पर इस तरह 'बोली' लगाने के लिए कौन कह रहा है ?

पुलिस को मिली शिकायत पर शुरू हुई जांच

एक महिला पत्रकार की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कर दिल्ली पुलिस ने जाँच शुरू कर दी है। साऊथ ईस्ट जिले के साइबर पुलिस स्टेशन में एक अज्ञात युवक के खिलाफ धारा 509 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मुंबई में भी शिवसेना की राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने मामले को लेकर शिकायत दर्ज कराई है जिस पर पुलिस कार्यवाही कर रही है। नेशनल वुमन कमिशन ने भी मामले का संज्ञान लिया है।

क्या है पूरा मामला ?

ट्विटर पर स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए कुछ महिलाओं ने दावा किया कि 'बुली बाई' नाम के ऐप पर उनकी 'नीलामी' की जा रही है। ऐप का नाम मुस्लिम महिलाओं के एक वर्ग द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एक कच्चा शब्द है। इस ऐप पर लड़कियों की सैकड़ों तस्वीरें हैं। नए साल के मौके पर सामने आए स्क्रीनशॉट के आधार पर एक महिला पत्रकार ने पुलिस में शिकायत की। विभिन्न दलों की महिला नेताओं ने भी यह मुद्दा उठाया और कार्रवाई की मांग की

ऐप पर 100 प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की बोली लगाए जाने को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर हमला बोलते हुए ट्विटर पर लिखा,

'महिलाओं का अपमान और सांप्रदायिक नफ़रत तभी बंद होंगे जब हम सब एक आवाज़ में इसके ख़िलाफ़ खड़े होंगे. साल बदला है, हाल भी बदलो- अब बोलना होगा!'

महिलाओं का अपमान और सांप्रदायिक नफ़रत तभी बंद होंगे जब हम सब एक आवाज़ में इसके ख़िलाफ़ खड़े होंगे।

साल बदला है, हाल भी बदलो- अब बोलना होगा! #NOFEAR

वहीं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने इस मंच पर मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक बातें लिखने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है |

महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर पर लिखा,

'यह शर्मनाक है कि मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ इस तरह की अपमानजनक हरकत करने वाले अपराधियों को खुली छूट दी जाती है, चाहे वह मुसलमानों के नरसंहार का खुला आह्वान हो या ऑनलाइन मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाने का, यह स्पष्ट है | कि इन तत्वों को सत्ता में बैठे लोगों का संरक्षण प्राप्त है |"

आपको बता दें कि इससे पहले जीथब पर सुल्ली डील नाम का एक प्लेटफॉर्म भी लॉन्च किया गया था और इसमें महिलाओं को ऑनलाइन बेचने जैसे गंभीर आरोप लगे थे।

Like Follow us on :- Twitter | Facebook | Instagram | YouTube

<div class="paragraphs"><p>file photo :muslim woman</p></div>
पीएम मोदी ने मेरठ में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के उद्घाटन के साथ की सियासत की बैटिंग , दिया प्रदेश को खास सन्देश

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com