ऑस्‍ट्रेलिया में रहने वाले दोस्‍त ने दिया ठगी का आइडिया, फिर पति-पत्नी ने गैंग बनाकर 2 साल में ठगे करोड़ो

अश्लील वीडियो बनाकर स्ट्रिपचैट के जरिए उन्हें ब्लैकमेल करके और रंगदारी वसूल कर एक दंपत्ति गिरोह चला रहा था
ऑस्‍ट्रेलिया में रहने वाले दोस्‍त ने दिया ठगी का आइडिया, फिर पति-पत्नी ने गैंग बनाकर 2 साल में ठगे करोड़ो

डेस्क न्यूज. राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद की साइबर सेल और नंद गांव पुलिस ने शुक्रवार को शातिर तरीके से सोशल साइट्स के जरिए अश्लील वीडियो बनाकर लोगों को ब्लैकमेल कर के करोड़ घोटाला करने वाली शातिर गैंग को पकडा हैं वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया. वहीं गाजियाबाद पुलिस ने इस मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए गिरोह के चार बैंक खातों को सीज किया है, इसके अलावा पुलिस ने बताया कि पिछले दो साल में इन लोगों ने 200 से ज्यादा लोगों को अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर 22 करोड़ रुपये वसूले हैं.

चारों बैंक खातों में करीब 3.8 करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ

इस संबंध में गाजियाबाद सिटी एसपी निपुल अग्रवाल ने बताया कि अभी तक हमें इस गिरोह के 4 बैंक खातों की जानकारी मिली है. इन चारों बैंक खातों में करीब 3.8 करोड़ रुपये का लेनदेन हुआ है। सभी खातों को जब्त कर लिया गया है। इसी के साथ उन्होंने कहा कि लोगों के अश्लील वीडियो बनाकर स्ट्रिपचैट के जरिए उन्हें ब्लैकमेल करके और रंगदारी वसूल कर एक दंपत्ति गिरोह चला रहा था. पुलिस ने इस मामले में पति-पत्नी समेत तीन युवतियों को गिरफ्तार किया है। उसके पास 8 बैंक खाते थे।

वेबसाइट के जरिए लोगों को अश्लील चैटिंग के लिए आमंत्रित करता था

गाजियाबाद पुलिस के मुताबिक आरोपी योगेश अपनी पत्नी सपना के साथ अन्य लड़कियों निकिता, निधि और प्रिया के साथ बड़ी चतुराई से पहली वेबसाइट के जरिए लोगों को अश्लील चैटिंग के लिए आमंत्रित करता था. उसके बाद लोगों को लड़कियों के प्राइवेट नंबर देकर उनसे अश्लील चैटिंग के दौरान उनका वीडियो बनाता था।

एक शख्स से उसके खातों में करीब 8 लाख रुपये जमा कराए

योगेश और उनकी पत्नी सपना का असली काम शुरू होगा।

योगेश और सपना जिस व्यक्ति के अश्लील वीडियो बनाते थे, उसे ब्लैकमेल करने का काम करते थे।

उसके पास से फर्जी एकाउंट में पैसे लेता था। इन लोगों ने नासिक, दिल्ली, एनसीआर बल्कि

अन्य राज्यों में भी अपना शिकार बनाया है। गुजरात के राजकोट निवासी तुषार नाम के

एक शख्स से उसके खातों में करीब 8 लाख रुपये जमा कराए थे, जिसका केस

पीड़िता ने गुजरात में ही लिखा था. इसके बाद गुजरात पुलिस ने

गाजियाबाद पुलिस से संपर्क किया, तब मामला सामने आया।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com