उदयपुर हत्याकांड मामले में आरोपी रियाज का दोस्त हैदराबाद से गिरफ्तार, पाकिस्तान के एक कट्टरपंथी संगठन के लिए कर रहे थे काम

हत्याकांड से जुड़े अपराधियों की तलाश में राष्ट्रीय जांच एजेंसी लगातार छापेमारी कर रही है। इस सिलसिले में बुधवार को पहली बार एजेंसी ने राजस्थान के बाहर किसी अन्य राज्य में कार्रवाई की है
उदयपुर हत्याकांड मामले में आरोपी रियाज का दोस्त हैदराबाद से गिरफ्तार, पाकिस्तान के एक कट्टरपंथी संगठन के लिए कर रहे थे काम

उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के मामले में एनआईए की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। हत्याकांड से जुड़े अपराधियों की तलाश में राष्ट्रीय जांच एजेंसी लगातार छापेमारी कर रही है। इस सिलसिले में बुधवार को पहली बार एजेंसी ने राजस्थान के बाहर किसी अन्य राज्य में कार्रवाई की है। हत्यारे रियाज के एक दोस्त के हैदराबाद में एनआईए ने छापेमारी कर उसे गिरफ्तार कर लिया है एजेंसी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि गिरफ्तार आरोपी और रियाज पाकिस्तान के एक कट्टरपंथी संगठन के लिए काम कर रहे थे

मोहम्मद गौस और रियाज अटारी का हैदराबाद कनेक्शन
जानकारी के मुताबिक एनआईए की जांच में आरोपी मोहम्मद गौस और रियाज अटारी का हैदराबाद कनेक्शन भी सामने आया है। बता दें कि एनआईए की टीम ने वसीम को 29 जून को पकड़ा था। कौन है आरोपी रियाज का रिश्तेदार। उसके मोबाइल से मिली कुछ तस्वीरों के आधार पर टीम जांच कर रही है।

पहले नोटिस देकर एनआईए के सामने पेश होने को कहा

वहीं एनआईए के जयपुर एसपी ने हैदराबाद निवासी रियाज के दोस्त मोहम्मद मुनव्वर अशरफी को पहले नोटिस देकर 14 जुलाई को एनआईए के सामने पेश होने को कहा है। टीम ने उसके घर की तलाशी ली और उससे पूछताछ की, जिसके बाद उसने गिरफ्तार किया गया।

कई शहरों में एक साथ की यात्रा

जांच में पता चला कि हत्या के मुख्य आरोपी रियाज और मुनव्वर के बीच अक्सर फोन पर बातचीत होती थी। व्हाट्सएप चैट में कई तरह के चैट भी पाए गए हैं जो कट्टरपंथी सोच को बढ़ावा देते हैं। रियाज और मुनव्वर ने देश के कई शहरों में एक साथ यात्रा की। ये दोनों पाकिस्तान के दावत-ए-इस्लामी संगठन के लिए चयनित समूह के युवाओं को कट्टर बनाने के लिए उकसाते थे।

चार लोगों पर हमला होना था
वहीं रियाज की सूचना पर फरहाद शेख नाम के शख्स को भी उदयपुर से हिरासत में लिया गया है। जानकारी के मुताबिक शेख ने उदयपुर के कारोबारी को धमकाया था और उसकी हत्या की जिम्मेदारी ली थी। बताया जा रहा है कि इस तरह से लगातार चार लोगों की हत्या की जानी थी।

इस मामले में अब तक शहर के किशनपोल के रजा कॉलोनी निवासी मोहम्मद रियाज पुत्र जब्बार, मोहम्मद गौस पुत्र रफीक, मोहसिन खान पुत्र मुजफ्फर खान, आशिक हुसैन पुत्र मोहम्मद हुसैन व मोहम्मद मोहसिन पुत्र मोहम्मद इस्माइल को गिरफ्तार किया जा चुका है।

उदयपुर हत्याकांड मामले में आरोपी रियाज का दोस्त हैदराबाद से गिरफ्तार, पाकिस्तान के एक कट्टरपंथी संगठन के लिए कर रहे थे काम
सबसे बड़ा गुंडा कौन? वर्चस्व की लड़ाई में कोटा में हुआ गैंगवार
Since independence
hindi.sinceindependence.com