सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का खुलासा, हत्या से पहले 8 से 9 बार रेकी, 3 शूटरों को गिरफ्तार किया

जिन 3 शूटरों को गुजरात से मुंद्रा से गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 2 हरियाणा और 1 पंजाब से हैं। तीनों पर पहले से ही हत्या के मामले चल रहे हैं। मुसेवाला की हत्या से पहले 8 से 9 बार रेकी की गई थी
सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का खुलासा, हत्या से पहले 8 से 9 बार रेकी, 3 शूटरों को गिरफ्तार किया

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में दिल्ली पुलिस ने सोमवार को 3 शूटरों को गिरफ्तार किया है. तीनों को गुजरात के मुंद्रा से गिरफ्तार किया गया था। इसके कुछ देर बाद ही दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात का खुलासा किया कि हत्याकांड को कैसे अंजाम दिया गया।

जिन 3 शूटरों को गुजरात से मुंद्रा से गिरफ्तार किया गया है। इनमें से 2 हरियाणा और 1 पंजाब से हैं। तीनों पर पहले से ही हत्या के मामले चल रहे हैं। मुसेवाला की हत्या से पहले 8 से 9 बार रेकी की गई थी।
दिल्ली पुलिस

पुलिस के मुताबिक, स्पेशल सेल ने पंजाब में संगठित अपराध के खिलाफ बड़े पैमाने पर काम किया है। 29 मई को सिद्धू मूसेवाला के मारे जाने के बाद दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की सभी टीमें सक्रिय हो गईं।

हत्याकांड में शूटरों के 2 मॉड्यूल शामिल
पहले छह निशानेबाजों की पहचान की गई। इस हत्याकांड में शूटरों के 2 मॉड्यूल शामिल थे। दोनों गोल्डी बरार के संपर्क में थे। सबसे पहले संदीप केकड़ा रेकी करने सिद्धू मूसेवाला की पहुंचा। उसने बताया कि मूसेवाला थार से बिना सुरक्षा के अपने घर से निकले थे। मुसेवाला जैसे ही उनके घर से निकले, दो वाहन उनके पीछे-पीछे आ गए। उनमें से एक बोलेरो गाड़ी थी, जिसे कशिश चला रहा था। इसमें प्रियव्रत (मुख्य निशानेबाज) और अंकित सिरसा बैठा था। दूसरा वाहन कोरोला था, जिसे केशव चला रहा था। उसमें जगदीप रूपा और मनप्रीत बैठा था।

मनप्रीत मन्नू ने एके-47 से फायरिंग की

केशव ने कोरोला कार ली और सिद्धू की जीप के सामने लगा दी। दोनों वाहनों में से सभी 6 शूटर निकले। मनप्रीत मन्नू ने एके-47 से फायरिंग की। सिद्धू मूसेवाला को गोली लगी । कार पर फायरिंग शुरू कर दी। सभी 6 शूटरों ने लगातार फायरिंग की और वहां से फरार हो गए।

29 मई को सिद्धू मूसेवाला की हत्या

29 मई एक काला दिन साबित हुआ जब पंजाबी संगीत उद्योग ने एक होनहार प्रतिभा को खो दिया। एक मां ने अपने 28 साल के छोटे बेटे को अलविदा कह दिया था। सिद्धू मूसेवाला की मौत ने उनके करीबी दोस्तों और प्रशंसकों को बड़ा झटका दिया था। सिंगर पर हुए हमले की जिम्मेदारी लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बरार ने ली थी। सिद्धू मूसेवाला की हत्या की योजना बहुत पहले से बनाई गई थी। जो 29 मई को किया गया था। दिनदहाड़े हुई इस घटना ने सभी को हैरान कर दिया। अस्पताल ले जाते समय सिद्धू मूसेवाला की सांसें थम गई थीं।

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का खुलासा, हत्या से पहले 8 से 9 बार रेकी, 3 शूटरों को गिरफ्तार किया
पकड़ा गया चंबल का डाकू, 24 साल से फरार, हत्या और लूट के दर्जनों केस दर्ज

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com