WATCH VIDEO: नुसरत भरूचा ने कहा- मैंने तो खुद कंडोम बेचा है.. सही मायनों में कंडोम की जरूरत पुरूषों से ज्यादा महिलाओं को

WATCH VIDEO: नुसरत भरूचा ने कहा- मैंने तो खुद कंडोम बेचा है.. सही मायनों में कंडोम की जरूरत पुरूषों से ज्यादा महिलाओं को
मीडिया के एक सवाल पर कि क्या आपने कभी किसी लड़की को कंडोम बेचते हुए देखा है... इस पर नुसरत ने कहा कि मैंने खुद कंडोम बेचा हैं... प्यार का पंचनामा और सोनू के टीटू की स्वीटी फेम एक्ट्रेस नुसरत भरूचा और डेब्यूटेंट अनुद सिंह शनिवार को अपनी अपकमिंग फिल्म जनहित में जारी के प्रमोशन के लिए जयपुर पहुंची थे। इस दौरान नुसरत और अनुज ने बेबाकी से सेक्स एजुकेशन और कंडोम पर बात की। नुसरत ने कहा कि बच्चों को 7वीं क्लास में सेक्स एजुकेशन दी जाती है तो फिर कंडोम की शिक्षा देने में बच्चों को क्या परेशानी हो सकती है। नुसरत ने कहा कि 'जनहित में जारी' एक पारिवारिक फिल्म है, जिसमें सोशल अवेयरनेस और स्कूल लाइफ को कॉमेडी की तरह दिखाया गया है।
नुसरत ने कहा कि जब कोई कंडोम खरीदता है तो सामने वाले दिमाग में सिर्फ सेक्स आता है जबकि इसे सुरक्षा के नजरिए से देखा जाना चाहिए। लोग सिर्फ इसे सेक्स के नजरिए से ही देखते हैं। जिस दिन से फिल्म का ट्रेलर रिलीज हुआ यूजर्स ने तभी से कमेंट करना शुरू ​कर दिया। मुझे उस दौरान पहली बार पता चला कि ये टॉपिक कितना जरूरी है।
नुसरत ने बताया कि ये फिल्म उन्हें ड्रीम गर्ल के सेट पर ही ऑफर हो गई थी। पहली बार इतने सेंसिटिव टॉपिक पर किसी फीमेल को लीड मिलना मेरे लिए गर्व की बात है। छोटी-छोटी गलियों में शूटिंग के दौरान कंडोम शब्द यूज करती थी, तब लोग उन्हें घूर कर देखा करते थे। नुसरत बताती हैं पहली बार उन्हें काफी अनकंफर्टेबल महसूस हुआ। मुझे हैरानी हुई कि लोग कंडोम जैसी अच्छी चीज को ऐसी नजर और ऐसी सोच से कैसे देख सकते हैं।

मेरी फैमिली खुले विचारों की

नुसरत ने बताया कि उनकी फैमिली सेक्स एजुकेशन को लेकर खुले विचार रखती है। यही वजह है कि मैं हर तरीके की बात फैमिली से शेयर कर पाती हूं। मेरा मानना है कि कंडोम की जरूरत पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को है, क्योंकि कंडोम का यूज न करने से पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को भुगतना पड़ता है। इस फिल्म में बढ़ते अबॉर्शन केसेस पर भी चर्चा की गई है। पूरे डाटा और फिगर्स के साथ दिखाया गया है कि कंडोम कितना जरूरी है।
WATCH VIDEO: नुसरत भरूचा ने कहा- मैंने तो खुद कंडोम बेचा है.. सही मायनों में कंडोम की जरूरत पुरूषों से ज्यादा महिलाओं को
असम के बाढ़ प्रभावितों को बचाने के लिए खुद कीचड़ में उतरीं IAS अधिकारी कीर्ति जल्ली बनी ब्यरोक्रेसी की नजीर

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com