पाकिस्तानी हसीना से वॉट्सएप पर ‘गंदी बात’ करता था सेना का चपरासी, बदले में भेजता था खुफिया दस्तावेज

मामला मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस के तहत मुख्य अभियंता जोधपुर जोन एमईएस के तहत कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का है
पाकिस्तानी हसीना से वॉट्सएप पर ‘गंदी बात’ करता था सेना का चपरासी, बदले में भेजता था खुफिया दस्तावेज

डेस्क न्यूज. पाकिस्तानी हसीनाओं के जाल में सेना के जवान फंस रहे हैं. राजस्थान में पाकिस्तानी हसीनाओं के चक्कर में देश से ठगी के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. ताजा मामला मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस के तहत मुख्य अभियंता जोधपुर जोन एमईएस के तहत कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का है।

पाकिस्तानी महिला को व्हाट्सएप के जरिए गोपनीय दस्तावेजों की तस्वीरें भेजने

चपरासी के पद पर कार्यरत ग्राम गोवा थाना निवासी राम सिंह को सामरिक महत्व की सूचना सिरोही

जिले में भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। राम सिंह पर एक पाकिस्तानी महिला को

व्हाट्सएप के जरिए गोपनीय दस्तावेजों की तस्वीरें भेजने का आरोप है।

विभिन्न जांच एजेंसियां ​​राम सिंह से पूछताछ कर रही हैं।

हनी ट्रैप का शिकार हुए सेना के जवान, भेज रहे थे पाकिस्तान को खुफिया जानकारी

डीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने कहा कि आरोपी पिछले दो महीने से व्हाट्सएप के जरिए पाकिस्तानी महिला हैंडलर के संपर्क में था। इस दौरान वह महिला हैंडलर से शादी करने और मिलने का झांसा देकर भारतीय सेना के सामरिक महत्व की जानकारी की तस्वीरें भेजकर वाट्सएप के जरिए भेजता था। वह दस्तावेजों की तस्वीरें भेजते हुए पकड़ा गया है। आरोपित से पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि आरोपी पाकिस्तानी हसीना से अश्लील बातें करने के एवज में दुश्मनों को गोपनीय दस्तावेज भेजता था।

निगरानी में था चपरासी

डीजी उमेश मिश्रा ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी होने के कारण वह पत्र ले जाने और फोटो स्टेट मशीन चलाने के काम के दौरान अपने मोबाइल फोन से दस्तावेजों की तस्वीरें खींचकर भेज रहा था. सूचना से मिली जानकारी के आधार पर खुफिया टीम इसकी निगरानी कर रही थी. डीजी इंटेलिजेंस ने बताया कि आरोपी राम सिंह से जोधपुर में सभी एजेंसियों ने संयुक्त रूप से पूछताछ की. जब आरोपी का एंड्रॉयड मोबाइल जयपुर लाया गया तो अश्लील चैट और रणनीतिक महत्व की सूचनाएं भेजने के सबूत मिले। इस पर मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com