अलकायदा सरगना अल जवाहिरी को अमेरिका ने Drone Strike में किया ढेर

अमेरिका ने ड्रोन हमले में अलकायदा सरगना अल जवाहिरी को मार गिराया । अल जवाहिरी पर 9/11 हमले का आरोप लगा था । अमेरिकी हमले में दो बार फरार जवाहिरी
अलकायदा सरगना अल जवाहिरी को अमेरिका ने Drone Strike में किया ढेर

अमेरिका ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में ड्रोन हमले में अलकायदा सरगना अल जवाहिरी को मार गिराया है। खुफिया जानकारी मिलने के बाद रविवार दोपहर जवाहिरी पर ड्रोन से हमला किया गया, जिसमें उसकी मौत हो गई। अलकायदा के संस्थापक ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद 2011 में जवाहिरी ने आतंकी संगठन की कमान संभाली थी।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, यह ड्रोन हमला अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए की विशेष टीम ने किया था । अगस्त 2021 में अफगानिस्तान में तालिबान सरकार के सत्ता में आने के बाद से जवाहिरी काबुल में रह रहा था। वहीं तालिबान अमेरिकी कार्रवाई पर भड़क गया है और इसे दोहा समझौते का उल्लंघन बताया है।

बाइडेन ने कहा- ऑपरेशन सफल

अल-जवाहिरी की हत्या के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा- 'हमने जवाहिरी को ढूंढ कर मार गिराया है। हम अमेरिका और उसके लोगों के लिए पैदा हुए किसी भी खतरे को जाने नहीं देंगे। हम अफगानिस्तान में आतंकवाद पर हमले जारी रखेंगे।

अल जवाहिरी पर 9/11 हमले का आरोप लगा था

11 सितंबर 2001 को 19 आतंकियों ने 4 कमर्शियल प्लेन को हाईजैक कर अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला कर दिया। अमेरिका में इसे 9/11 हमले के नाम से जाना जाता है। इस हमले में 93 देशों के 2 हजार 977 लोग मारे गए थे। इस हमले में अमेरिकी जांच एजेंसी ने ओसामा बिन लादेन, अल जवाहिरी समेत अलकायदा के तमाम आतंकियों को आरोपी बनाया था ।

अमेरिकी हमले में दो बार फरार जवाहिरी

  • अमेरिका पहले भी कई बार जवाहिरी को मारने की कोशिश कर चुका था। 2001 में, जवाहिरी के अफगानिस्तान के तोरा बोरा में छिपे होने की सूचना मिली थी। हालांकि, हमला होने से पहले ही जवाहिरी भाग गया। हालांकि इस हमले में उनकी पत्नी और बच्चों की मौत हो गई थी।

  • वहीं 2006 में अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने जवाहिरी को मारने के लिए फिर से जाल बिछाया । उस वक्त खबर आई थी कि वह पाकिस्तान के दामडोला में छिपा हुआ है। हालांकि मिसाइल हमला होने से पहले ही जवाहिरी वहां से फरार हो गया था।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com