England: जांच एजेंसी का खुलासा- लेस्टर में हिंदुओं पर हुए हमलों के पीछे मौलवी की थी साजिश

बिट्रेन के लेस्टर में हिंदुओं के मंदिर में की तोड़फोड़ व मंदिर के ऊपर लगी ध्वजा को उतारकर फेंक दिया था। इसी मामले में एजेंसी ने मौलवी मोहम्मद हिजाब को वीडियो बनाकर मुस्लिमों को भड़काने में संलिप्त पाया है। मौलवी हिदुंओं के खिलाफ भीड़ को उकसाने का कार्य करता था।
England: जांच एजेंसी का खुलासा- लेस्टर में हिंदुओं पर हुए हमलों के पीछे मौलवी की थी साजिश

पिछले महीने हुए भारत, पाकिस्तान क्रिकेट मैच के बाद 17 सितंबर को पूर्वी इंग्लैंड के लेस्टर शहर में दोनों संप्रदायों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस दौरान हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई थी और मंदिर के ऊपर लगे भगवा झंडे को उतारकर फेंक दिया गया था।  

बिट्रेन के लेस्टर में हुई हिंसक घटनाओं की साजिश खुद मौलवी ने रची। जांच एजेंसी ने पाया कि मोहम्मद हिजाब नामक मौलवी ने भीड़ का नेतृत्व करते हुए मुस्लिमों को धर्म के नाम पर एकजुट कर हिंसा के लिए भड़काया। यह वही मौलवी है जो 2021 में लंदन में यहूदियों के खिलाफ हुए प्रदर्शनों के आयोजकों में शामिल रहा है। यह यहूदियों की हत्या की धमकी देता रहा है।

17 सितंबर को लेस्टर में जब दंगा भड़का तब इसका एक वीडियो सामने आया था। इस वीडियो में यह मौलवी नकाबपोश भीड़ को संबोधित कर रहा था। जांच के दौरान एजेंसी को पता चला कि यह नकाबपोश मोहम्मद हिजाब है। इस घटना के विरोध में ग्रीनलेन इलाके में हिंदू युवाओं ने प्रदर्शन करते हुए मार्च निकाला, जैसे ही ये मार्च मुस्लिम कारोबारियों की दुकान के आगे से गुजरने लगा तो इमारतों से बोतलों और पत्थरों से हमला किया गया। इसके बाद उसी इलाके में मुस्लिमों की भीड़ ने मंदिर में तोड़फोड़ शुरू कर दी मंदिर की एक ध्वजा में आग लगा दी गई।

17 सितंबर को लेस्टर में हुए दंगे से पहले के इस वीडियो में मोहम्मद हिजाब भीड़ से कह रहा था कि इन हिंदुओं में पुनर्जन्म जैसी मान्यताएं हैं। यह कमजोरों की निशानी है। मैं हिंदू के बजाय टिड्डे के तौर जन्म लेना पसंद करूंगा।

दंगे होने के बाद 18 सितंबर को मौलवी ने वीडियो बनाते हुए भीड़ से पूछा- क्या हिंदू दोबारा सड़क पर निकल पाएंगे? भीड़ ने कहा- नहीं। फिर पूछा- वे निकले तो क्या हम यहां होंगे? भीड़ ने कहा- हां होंगे।

मौलवी ने तीसरा वीडियो इंस्टाग्राम पर 18 सितंबर को पोस्ट किया। जिसमें मौलवी में कुछ फोटो और वीडियो भी पोस्ट किए थे। इसमें वह नकाबपोश समर्थकों के साथ खुद को लेस्टर का रक्षक बता रहा है। कुछ युवा उसे संभलकर बोलने की हिदायत भी देते दिखे।

इसी वीडियो में 200 से ज्यादा लोगों की भीड़ स्मेथविक में मां दुर्गा मंदिर में जबरन घुसने की कोशिश करते दिखे। सार्वजनिक मंच से यहूदियों के बच्चों को मारने की धमकी भी दे चुका है। मई 2021 में उत्तर पश्चिम लंदन के गोल्डर्स ग्रीन में हालात खराब हो गए थे। तब भी मोहम्मद हिजाब ने मंच से यदि यहूदियों के बच्चों को मार डालने की धमकी दी थी।

England: जांच एजेंसी का खुलासा- लेस्टर में हिंदुओं पर हुए हमलों के पीछे मौलवी की थी साजिश
मुस्लिमों को भड़काना, नफरत और उगाही- पीएफआई पर क्यों लगा बैन, जानें 10 प्वाइंट्स में
Since independence
hindi.sinceindependence.com