नवनीत राणा ने कहा था, थाने में पानी तक के लिए तरसे, लेकिन CCTV फुटेज में पति के साथ चाय की चुस्कियां लेतीं आईं नजर

गिरफ्तारी के बाद राणा दंपत्ति थाने में आराम से बैठे थे। उन्हें चाय भी पिलाई गई। इससे पहले राणा दंपत्ति ने लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि उनकी गिरफ्तारी के बाद उन्हें पूरी रात पानी नहीं दिया गया
नवनीत राणा ने कहा था, थाने में पानी तक के लिए तरसे, लेकिन CCTV फुटेज में पति के साथ चाय की चुस्कियां लेतीं आईं नजर
CCTV फुटेज में नवनीत राणा पति के साथ चाय की चुस्कियां लेतीं आईं नजर

राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने आरोप लगाया था कि गिरफ्तारी के बाद उन्हें पूरी रात पानी नहीं दिया गया। अनुसूचित जाति के कारण रात भर वॉशरूम का उपयोग करने की अनुमति नहीं थी। हालांकि, मंगलवार को मुंबई पुलिस कमिश्नर ने इस दावे को झूठा बताते हुए एक वीडियो जारी किया।

वीडियो के आधार पर गिरफ्तारी के बाद राणा दंपत्ति थाने में आराम से बैठे थे। उन्हें चाय भी पिलाई गई। इससे पहले राणा दंपत्ति ने लोकसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि उनकी गिरफ्तारी के बाद उन्हें पूरी रात पानी नहीं दिया गया और यहां तक कि उन्हें वॉशरूम का इस्तेमाल भी नहीं करने दिया गया।
कमिश्नर संजय पांडेय

जमानत की मांग, 29 अप्रैल को सुनवाई

राणा दंपत्ति के खिलाफ दर्ज देशद्रोह के मामले में अब सुनवाई 29 अप्रैल को एमपी/एमएलए कोर्ट में होगी। दोनों ने याचिका दायर कर देशद्रोह की याचिका खारिज करने और जमानत की मांग की है। नवनीत राणा के वकील रिजवान मर्चेंट ने कहा- आज अदालत में काफी मामले लंबित थे, जिसके बाद उनके अनुरोध पर हम सहमत हुए कि जमानत अर्जी पर 29 अप्रैल को सुनवाई होगी।

उद्धव ठाकरे के आवास के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की घोषणा
पहले हॉलिडे कोर्ट ने उनकी जमानत अर्जी पर तुरंत सुनवाई से इनकार करते हुए 29 अप्रैल की तारीख तय की थी। मंगलवार को आवेदन खारिज होने के बाद उसके पास बॉम्बे हाईकोर्ट का विकल्प है। अदालत के आदेश का पालन करते हुए नवनीत राणा छह मई तक मुंबई की भायखला जेल और रवि राणा नवी मुंबई की तलोजा जेल में रहेंगे। राणा दंपति ने शनिवार को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की घोषणा की थी, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट

राणा दंपति की गिरफ्तारी के बाद गृह मंत्रालय ने राज्य के डीजीपी और मुख्य सचिव को पत्र लिखकर नवनीत राणा मामले में पूरी जानकारी मांगी है। राणा दंपत्ति के साथ खार थाने में हुए अमानवीय व्यवहार की तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी गई है। लोकसभा विशेषाधिकार और आचार समिति ने गृह मंत्रालय के समक्ष एक रिपोर्ट मांगी थी।

लोगों को गुमराह कर रहे हैं देवेंद्र फडणवीस, हनुमान चालीसा पढ़ने पर किसी के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज नहीं किया गया है. कल बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी इस संबंध में अपनी राय दी है। आप अपने घर में हनुमान चालीसा का पाठ करें और मंदिर जाएं। अगर आप किसी और के घर जाकर हनुमान चालीसा के नाम पर माहौल खराब करते हैं तो आप दोषी होंगे।
शिवसेना सांसद संजय राउत
नौ मई तक धारा 144 लागू
लाउडस्पीकर विवाद में महाराष्ट्र सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए औरंगाबाद में आज से नौ मई तक धारा 144 लागू कर दी है। 3 मई को मनसे प्रमुख राज ठाकरे यहां बड़ी रैली करने वाले थे। मनसे प्रमुख ने ईद के दिन सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने का अल्टीमेटम दिया है।
महाराष्ट्र की पुलिस अपने अधिकार के मुताबिक काम कर रही है. मुंबई पुलिस अपने शानदार काम के लिए जानी जाती है और आगे भी जानी जाएगी। महाराष्ट्र को परेशान करने की कोशिश की जा रही है। हम सफल नहीं होने देंगे। मैंने बार-बार स्पष्ट किया है कि वर्तमान सरकार के महाराष्ट्र में आने के बाद से विपक्ष खुश नहीं है और वे किसी भी मामले में वर्तमान सरकार को अव्यवस्थित करने की कोशिश कर रहे हैं।
महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल

राणा दंपत्ति जनप्रतिनिधि हैं इसलिए उनकी जिम्मेदारी भी बहुत बड़ी है

सोमवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने राणा दंपत्ति की दूसरी प्राथमिकी (आईपीसी की धारा 353) को रद्द करने की याचिका खारिज करते हुए कड़ी फटकार लगाई है। इसमें दोनों पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप है। कोर्ट ने कहा कि घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ना व्यक्ति की व्यक्तिगत स्वतंत्रता का हनन है। राणा दंपत्ति की वजह से कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी हो गई थी। यह पुलिस का सच है। याचिकाकर्ता (राणा दंपत्ति) जनप्रतिनिधि हैं इसलिए उनकी जिम्मेदारी भी बहुत बड़ी है। महान पद के साथ बड़ी जिम्मेदारी आती है। यह तो सभी जानते हैं। इसलिए ऐसे लोगों को जिम्मेदारी की भावना से कुछ भी बोलना चाहिए। इतना अपेक्षित है।

CCTV फुटेज में नवनीत राणा पति के साथ चाय की चुस्कियां लेतीं आईं नजर
राजस्थान सरकार का देर रात फरमान: 239 RAS अधिकारियों का किया ट्रांसफर,विवादों में रहे अधिकारी का नाम भी लिस्ट में

Related Stories

No stories found.