पुणे में भीषण हादसा-देखें CCTV : कार डिवाइडर तोड़ बस से टकराई, बस पलट कर होटल में घुसी, एक की मौत, 22 घायल

पुणे में भीषण हादसा-देखें CCTV : कार डिवाइडर तोड़ बस से टकराई, बस पलट कर होटल में घुसी, एक की मौत, 22 घायल

Car Rams Into Bus: हादसे में बस चालक की मौत हो गई और बस में सवार 22 लोग घायल हो गए। इनमें से कई लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है।

Car Rams Into Bus: पुणे-अहमदनगर हाईवे पर रविवार रात भीषण सड़क हादसा हो गया। अनियंत्रित कार डिवाइडर को तोड़कर दूसरी तरफ से आ रही यात्री बस से जा टकराई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि बस पलट कर एक होटल से जा टकराई।

हादसे में बस चालक की मौत हो गई और बस में सवार 22 लोग घायल हो गए। इनमें से कई लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। बस की टक्कर से होटल भी क्षतिग्रस्त हो गया। शिरूर तहसील के बजरंगवाड़ी इलाके में घटी यह भयावह घटना होटल के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई

फिल्म में एक्शन सीन की तरह पलट कर होटल में घुसी बस
जो वीडियो सामने आया है, इसमें एक बस सड़क से गुजरती हुई नजर आ रही है। इतने में सामने से आ रही कार उसे आगे से टक्कर मार देती है। इसके बाद बस फिल्म के एक्शन सीन की तरह सड़क पर पलटी खा कर सीधे होटल में घुस पार्किंग में खड़ी गाड़ियों से टकराजाती है। जाती है। बस के पलटते ही होटल के बाहर भगदड़ मच जाती है।
पुणे में भीषण हादसा-देखें CCTV : कार डिवाइडर तोड़ बस से टकराई, बस पलट कर होटल में घुसी, एक की मौत, 22 घायल
Jharkhand Ropeway Accident: 3 हेलिकॉप्टर से 22 को निकाला, 23 घंटे बाद 26 श्रद्धालु अब भी फंसे, रेस्क्यू जारी
कार ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज
घायलों को शिरूर के एक प्राइवेट अस्पताल में एडमिट करवाया गया है। पुलिस ने कार चालक के खिलाफ शिकारापुर पुलिस स्टेशन में यातायात नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया है। दुर्घटना के बाद तकरीबन 2 घंटे तक पुणे-अहमदनगर हाईवे जाम रहा।
भारत के संदर्भ में सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े चौंकाने वाले
पिछले एक दशक में भारतीय सड़कों पर 13 लाख लोगों की मौत हुई है और इनके अलावा 50 लाख लोग घायल हुए हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में सड़क दुर्घटनाओं के चलते 5.96 लाख करोड़ रुपये यानी सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के 3.14 प्रतिशत के बराबर नुकसान होता है।
दुनियाभर में सड़क दुर्घटनाओं में सबसे ज्यादा हताहत भारत के, हर घंटे होती हैं 53 सड़क दुर्घटनाएं और हर चार मिनट में एक मौत
दुनियाभर में सड़क दुर्घटनाओं में हताहत होने वाले लोगों में सबसे ज्यादा भारत के होते हैं। भारत में दुनिया के सिर्फ एक फीसदी वाहन हैं, लेकिन सड़क दुर्घटनाओं में दुनिया भर में होने वाली मौतों में भारत का हिस्सा 11 प्रतिशत है। देश में हर घंटे 53 सड़क दुर्घटनाएं हो रही हैं और हर चार मिनट में एक मौत होती है।
सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के बीते साल किए गए एक अध्ययन की मानें तो भारत में सड़क दुर्घटनाओं से 1,47,114 करोड़ रुपये की सामाजिक व आर्थिक क्षति होती है, जो जीडीपी के 0.77 प्रतिशत के समान है। मंत्रालय के अनुसार, सड़क दुर्घटनाओं का शिकार लोगों में 76.2 प्रतिशत ऐसे हैं, जिनकी उमग्र 18 से 45 साल के बीच है। यानी ये लोग कामकाजी आयु वर्ग के हैं।
सड़क दुर्घटनाएं लोगों की मौत का आठवां सबसे बड़ा कारण
बता दें कि विश्व स्तर पर सड़क दुर्घटनाएं लोगों की मौत का आठवां सबसे बड़ा कारण है। विश्व बैंक की बीते साल की रिपोर्ट की एक रिपोर्ट अनुसार, कम आय वाले देशों में सड़क दुर्घटनाओं की दर अधिक आय वाले देशों की तुलना में तीन गुना ज्यादा है।

Related Stories

No stories found.