असम में बाबा के बुलडोजर वाली कार्रवाई, इस महीने तीसरे मदरसा पर चला पीला पंजा

असम के बोंगाईगांव जिले में स्थित मरकजुल मा-आरिफ कुरियाना मदरसा को ध्वस्त कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के बाद अब असम में भी बुलडोजर वाली कार्रवाई की जा रही है। इस महीने की शुरुआत में, राज्य के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा था कि राज्य इस्लामी कट्टरवाद का गढ़ बन रहा है। जिसके बाद लगातार मदरसों पर चौथी कार्रवाई है।
असम में बाबा के बुलडोजर वाली कार्रवाई, इस महीने तीसरे मदरसा पर चला पीला पंजा

असम में लगातार मदरसों के खिलाफ सरकार की बुलडोजर वाली कार्रवाई जारी है। 31 अगस्त बुधवार को ही बोंगईगांव जिले में स्थित एक मदरसे को तोड़ दिया गया था। खास बात यह है कि AQIS/ABT से जुड़े 37 लोगों की गिरफ्तारी के बाद यह तीसरा मदरसा है जिसे असम सरकार ने गिराया है। इससे पहले सोमवार को सरकार ने बारपेटा जिले में ऐसी कार्रवाई की थी।

मरकजुल मा-आरिफ कुरियाना मदरसा ध्वस्त

राज्य के बोंगाईगांव जिले में स्थित मरकजुल मा-आरिफ कुरियाना मदरसा को ध्वस्त कर दिया गया। समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए एसपी स्वप्निल डेका ने कहा, 'जिला प्रशासन ने अपने एक आदेश में कहा है कि मदरसे की संरचना कमजोर है और सुरक्षित नहीं है, क्योंकि मदरसा भवन एपीडब्ल्यूडी/आईएस के मानदंडों के अनुसार नहीं बनाया गया था।'

लगातार की जा रही कार्रवाई

बारपेटा में सोमवार को की गई कार्रवाई के बाद एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना है कि परिसर का इस्तेमाल आतंकी गतिविधियों के लिए किया जा रहा था। उस दौरान ढकलीपारा मदरसा ध्वस्त कर दिया गया था। इसके अलावा, दो भाइयों अकबर अली और अबुल कलाम को एक्यूआईएस/एबीटी से संबंध रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

4 अगस्त को मोरीगांव के मदरसे पर कार्रवाई

असम सरकार ने सबसे पहले 4 अगस्त को मोरीगांव के मदरसे पर कार्रवाई की थी। इस महीने की शुरुआत में, राज्य के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा था कि राज्य इस्लामी कट्टरवाद का गढ़ बन रहा है। साथ ही उन्होंने बताया था कि सुरक्षा बलों ने मार्च से अब तक 5 जिहादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com