Bageshwar Dham: नए मिशन पर धीरेंद्र शास्त्री, जानें क्या है सनातन के लिए 'बाबा' का एजेंडा

Bageshwar Dham: बाबा धीरेंद्र शास्त्री फरवरी में बागेश्वर धाम में होने वाले यज्ञ में संतों को निमंत्रण देने के लिए निकले हैं। बाबा का एजेंडा जानने के लिए पढ़ें Since Independence की यह खबर।
Bageshwar Dham: नए मिशन पर धीरेंद्र शास्त्री, जानें क्या है सनातन के लिए 'बाबा' का एजेंडा

Bageshwar Dham: बागेश्वर धाम सरकार के आचार्य बाबा धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री यूं तो सनातन और हिंदू धर्म को लेकर विशेष प्रयासरत हैं ही, लेकिन इससे भी बढ़कर उनका एक विशेष एजेंडा है। उनके इस मिशन का केंद्र है सनातन और हिंदू राष्ट्र। उनके विरोधी इसीलिए उनसे खफा हैं और उनके धाम से जुड़ी लोगों की आस्था को आडंबर का नाम देकर उन्हें बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

इधर, इन्हीं विवादों के बीच धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इस समय उत्तराखंड पहुंचे हैं। उन्होंने एक वीडियो जारी कर इस बारे में बताया है। इसमें उन्होंने अपने विरोधियों को भी नसीहत दी है। इस बीच बाबा बागेश्वर धीरेंद्र शास्त्री अब नए मिशन पर निकल पड़े हैं। बागेश्वर धाम से निकले धीरेंद्र शास्त्री सीधे हिमालय पहुंचे। बाबा अब फरवरी में बागेश्वर धाम में होने वाले यज्ञ कार्यक्रम में संतों को निमंत्रण देने के लिए निकले हैं। खबर है कि उन्होंने आचार्य बालकृष्ण से भी मुलाकात की है।

Since Independence की इस खबर में जानें आचार्य धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री का वह एजेंडा जिसके लिए बाबा प्रयासरत हैं। बाबा के इसी मिशन की वजह से उनके विरोधी उनसे खफा हैं।

जानें क्या कहा धीरेंद्र शास्त्री ने

एक वीडियो जारी कर धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि, हम यात्रा पर निकले हैं। हम 2-3 दिन की यात्रा पर हैं। बागेश्वर बालाजी के चरणों की कृपा से और सन्यासी बाबा की कृपा से जो यज्ञ होने जा रहा है उसमें सभी स्थानों के तीर्थों को संत महापुरुषों को आमंत्रण देनें के लिए हम निकले हैं। हम बहुत जल्दी फिर बागेश्वर धाम आ रहे हैं।

हिमालय की दिव्य भूमि और उत्तराखंड के क्षेत्र जहां बड़े-बड़े ऋषि-मुनि और महात्मा के स्थानों के पदचिन्हों का आशीर्वाद लेकर हम सभी संतों को आमंत्रण दे रहे हैं। हम बहुत जल्द बागेश्वर धाम आएंगे, आप सभी इंतजार करिए और सनातन का झंडा गाड़े रहिए। 'कायदे में रहेंगे तो फायदे में रहेंगे।'

धीरेंद्र शास्त्री इसलिए हैं निशाने पर...

धर्म परिवर्तन कर ईसाई बने करीब 300 लोगों की हाल ही में क्रिसमस पर धीरेंद्र शास्त्री ने बागेश्वर धाम पर सनातन धर्म में वापसी कराई गई थी। सनातन धर्म त्याग चुके हिंदुओं की घरवासी बाबा धीरेंद्र शास्त्री का मिशन है और वे इसके लिए प्रयासरत हैं, इसीलिए धीरेंद्र शास्त्री मिशनरियों के टारगेट पर है। शायद इसीलिए साजिशन इस पवित्र धाम को बदनाम करने का षडयंत्र विदेशी ताकतों के इशारे पर किया जा रहा है।

बागेश्वर धाम को टारगेट के पीछे बड़ी वजह

  • बागेश्वर धाम महंत धीरेंद्र शास्त्री ने लव जिहाद को लेकर बयान दिया है। धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि भारत को खंड-खंड करने के पीछे कुछ मुस्लिम देश है। वहां से इसकी फंडिंग होती है। उनकी शय पर भारत देश में ये षड्यंत्र चलाया जा रहा है।

  • करीब एक माह पूर्व क्रिसमस के दिन बागेश्वर सरकार ने 300 लोगों को सतानती बनाया। बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री ने सभी लोगों को शपथ दिलाई कि वे अब कभी अपना धर्म नहीं छोड़ेंगे।

  • ओडिशा के 3 लोगों ने भी बागेश्वर धाम पर धर्म वापसी कर सनातन धर्म को अपनाने की घोषणा की। एक मुस्लिम युवती ने भी हिंदू धर्म अपनाया है।

बढ़ती जा रही है लोकप्रियता

विवादों के बीच धीरेंद्र शास्त्री की लोकप्रियता लगातार बढ़ती जा रही है। उनके विरोधियों और समर्थकों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। उनपर चमत्कार के माध्यम से अंधविश्वास फैलान का आरोप है। वहीं कुछ मुस्लिम धर्मगुरु उनपर धर्मांतरण कराने और इस्लाम को कमजोर करने की साजिश रचने का आरोप लगा रहे हैं। महाराष्ट्र के नागपुर की संस्था अंधश्रद्धा उन्मूलन समिति ने धीरेंद्र शास्त्री पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोप है कि वे जादू टोना को बढ़ावा दे रहे हैं और धर्म के नाम पर लोगों को गुमराह कर रहे हैं।

Bageshwar Dham: नए मिशन पर धीरेंद्र शास्त्री, जानें क्या है सनातन के लिए 'बाबा' का एजेंडा
Bageshwar Dham: आस्था का विषय अंधविश्वास कैसे? क्या मिशनरियों के टारगेट पर है धाम?
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com