Bharat Jodo Yatra: विवादों की यात्रा! MP में कांग्रेस नेता बोले- 'सोई अराजकता और भ्रष्टाचार जगाना उद्देश्य'

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' को लेकर नित नए विवाद सामने आ रहा है। मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेता ने यात्रा का उद्देश्य सोई हुई अराजकता और भ्रष्टाचार जगाना बताकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया। यह वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। उधर, केरल में यात्रा के लिए छोटे दुकानदारों से वसूली के मामला सामने आने से कांग्रेस की किरकिरी हो रही है।
Bharat Jodo Yatra: विवादों की यात्रा! MP में कांग्रेस नेता बोले- 'सोई अराजकता और भ्रष्टाचार जगाना उद्देश्य'

कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' को लेकर हर दिन कोई ना कोई विवाद सामने आ रहा है। अब मध्य प्रदेश में कांग्रेस के एक नेता ने यात्रा के उद्देश्य के बारे में यह कह डाला कि सोई हुई अराजकता और भ्रष्टाचार को जगाना है। नर्मदापुरम के जिला अध्यक्ष की जुबान जब फिसली तो यहीं नहीं रुकी, उन्होंने राहुल गांधी को राजीव गांधी भी कह डाला। अब उनका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर आयोजित बैठक में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सतेंद्र फौजदार की जुबान ऐसे फिसली की सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गई। जिला अध्यक्ष फौजदार ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा का उद्देश्य देश में सोई हुई अराजकता और भ्रष्टाचार को जगाना है।

फौजदार ने कहा, ''हमारे प्रत्येक ब्लॉक, मंडल, सेक्टर और गांव में हम यात्रा से संदेश पहुंचाना चाहते हैं। हम सोई हुई देश की अराजकता और जिस तरह भ्रष्टाचार है, इसको जगाने का काम करने जा रहे हैं।'' आगे कहा, ''किसानों की कर्जमाफी हो, वृद्धा अवस्था पेंशन हो, बच्चियों को 51 हजार रुपए की बात हो, हमारे कमलनाथ जी की उपलब्धि गांव-गांव में सुनने को मिलेगी। राजीव गांधी जी (राहुल गांधी) जिस संकल्प से भारत जोड़ने के लिए निकले हैं, उनका जो संकल्प है, वह आपको छोट-छोटे गांवों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अतिरिक्त जनता आपको बताएगी।''

केरल : भारत जोड़ो यात्रा के लिए सब्जी वालों से मांगे 2-2 हजार, नहीं देने पर की तोड़फोड़, सब्जियां फेंकी

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा इस समय केरल में चल रही है। यूं तो इस यात्रा में कांग्रेस वर्कर्स और समर्थकों की भीड़ देखने को मिल रही है. लेकिन इसके साथ ही अब कांग्रेस के ऊपर आरोप भी लगने लग रहे हैं। मामला केरल में ही सामने आया है. केरल के कोल्लम के एक सब्जी बेचने वाले दुकानदार ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उससे भारत जोड़ो यात्रा के लिए जबरन 2000 रुपये मांगे थे। रुपए नहीं देने पर दुकान में तोड़फोड़ कर सब्जियां फेंक दी गई। इस मामले में कार्रवाई करते हुए केरल कांग्रेस के अध्यक्ष के सुधाकरण ने पार्टी के 3 कार्यकर्ताओं को सस्पेंड कर दिया है।

केरल के कोल्लम में एस फवाज नाम के व्यक्ति की सब्जी की दुकान है। उसका कहना है कि वह रोजाना की तरह अपनी दुकान पर ही था। उसने आरोप लगाया है कि इसी दौरान कांग्रेस के कार्यकर्ता वहां पहुंचे और उससे भारत जोड़ो यात्रा में आर्थिक सहयोग के नाम पर जबरन रुपये मांगे। इस पर उसने 500 रुपये दे दिए, लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने 2000 रुपये की मांग की थी।

दुकान की सब्जियां फेंक दीं : दुकानदार

सब्जी बेचने वाले का आरोप है कि जब उसने 2000 रुपये देने से मना कर दिया तो कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उसकी दुकान में तोड़फोड़ की। उसका कहना है कि उसकी दुकान में रखी वजन मापने वाली मशीन को तोड़ दिया गया। साथ ही दुकान पर रखी तमात सब्जियों को भी फेंक दिया गया। उसने बताया है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उसे धमकाया भी। कांग्रेस की केरल इकाई के प्रमुख के सुधाकरन ने मामले में तीन कार्यकर्ताओं को सस्पेंड करते हुए कहा है कि इन वर्कर्स की विचारधारा पार्टी की विचारधारा से अलग है। उन्होंने कहा कि पार्टी वॉलंटरी रूप से छोटा-छोटा डोनेशन लेती है, ना कि दूसरों की तरह कॉरपोरेट सेक्टर से बड़ा डोनेशन लेती है।

इन पर भी खूब हुआ विवाद

ट्विटर हैंडल से आरएसएस की ड्रेस में आग लगी तस्वीर की पोस्ट

भारत जोड़ो यात्रा के बीच कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए पोस्ट में आरएसएस की ड्रेस में आग लगी तस्वीर साझा की है जिसके बाद से सियासत गरमा गई। कांग्रेस ने ट्विटर पर तस्वीर पोस्ट करते हुए लिखा कि देश को नफरत के माहौल से मुक्त करने और आरएसएस–बीजेपी द्वारा किए गए नुकसान की भरपाई को पूरा करने के लक्ष्य की दिशा में हम एक–एक कदम बढ़ा रहे हैं। पोस्ट की गई तस्वीर में आरएसएस की ड्रेस में नीचे आग जलती दिखाई दे रही है और धुआं भी उठ रहा है। इसके साथ ही तस्वीर पर लिखा है '145 days more to go'। इस पर भाजपा ने हमला बोलते हुए इसे कांग्रेस की आग लगाओ, भारत तोड़ा यात्रा करार दिया।

‘यीशु असली भगवान, शक्ति (हिंदू देवी) जैसे नहीं' : पादरी पोन्नैया

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने यात्रा के दौरान 9 सितंबर को कुछ कैथोलिक पादरियों के साथ बैठक की थी। इन पादरियों में विवादित पादरी जॉर्ज पोन्नैया भी मौजूद थे। बैठक में राहुल गांधी पादरी से सवाल करते हैं कि ‘क्या जीसस क्राइट (ईसा मसीह) ईश्वर का एक रूप हैं? क्या यह सही है? जवाब में पोन्नैया कहते हैं, ‘हां वह असली भगवान हैं, शक्ति (हिंदू देवी) जैसे नहीं हैं।' पोन्नैया ने राहुल को जवाब देते हुए यह भी कहा कि भगवान ने उन्हें (यीशू) को एक आदमी के रूप में प्रकट किया। वे असल व्यक्ति हैं, शक्ति की तरह नहीं हैं, इसलिए हम उन्हें एक इंसान के रूप में देखते हैं। इसका वीडिया वायरल होने पर भी खूब विवाद हुआ और भाजपा ने जमकर कांग्रेस पर आरोप लगाए।

Bharat Jodo Yatra: विवादों की यात्रा! MP में कांग्रेस नेता बोले- 'सोई अराजकता और भ्रष्टाचार जगाना उद्देश्य'
Bharat Jodo Yatra : कांग्रेस ने ट्विटर पर शेयर की RSS की जलती ड्रेस, भाजपा बोली- आग लगाना इनका पुराना इतिहास
Since independence
hindi.sinceindependence.com