Bharat Jodo Yatra : ‘यीशु असली भगवान, शक्ति जैसे नहीं', राहुल से वार्ता में पादरी के बयान से बवाल

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने कैथोलिक पादरियों के साथ बैठक की, जिसमें तमिल पादरी पोन्नैया ने यीशू को असली भगवान बताते हुए शक्ति रूपा हिंदू देवी का अपमान कर विवाद को जन्म दे दिया। भाजपा इसे लेकर हमलावर हो गई, वहीं कांग्रेस बचाव की मुद्रा में है।
Bharat Jodo Yatra : ‘यीशु असली भगवान, शक्ति जैसे नहीं', राहुल से वार्ता में पादरी के बयान से बवाल

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को लेकर नया विवाद छिड़ गया है। दरअसल राहुल ने यात्रा के दौरान शुक्रवार, 9 सितंबर, 2022 को कुछ कैथोलिक पादरियों के साथ बैठक की थी। इन पादरियों में विवादित पादरी जॉर्ज पोन्नैया भी मौजूद थे। इस बैठक की वीडियो क्लिप वायरल हो रही है, जिसमें राहुल गांधी पादरी से सवाल करते सुनाई दे रहे हैं कि ‘क्या जीसस क्राइट (ईसा मसीह) ईश्वर का एक रूप हैं? क्या यह सही है? जवाब में पोन्नैया कहते हैं, ‘हां वह असली भगवान हैं, शक्ति (हिंदू देवी) जैसे नहीं हैं।'

पोन्नैया ने राहुल को जवाब देते हुए यह भी कहा कि भगवान ने उन्हें (यीशू) को एक आदमी के रूप में प्रकट किया। वे असल व्यक्ति हैं, शक्ति की तरह नहीं हैं, इसलिए हम उन्हें एक इंसान के रूप में देखते हैं। अब राहुल के सवाल और पादरी पोन्नैया के बयान को लेकर सियासी घमासान छिड़ गया है। भाजपा ने जहां इसे राहुल के अभियान को नफरत से जोड़कर यात्रा को ‘भारत तोड़ो यात्रा‘ करार दिया है, वहीं कांग्रेस ने कहा है कि यह यात्रा से हताश भाजपा की एक और शरारत है। गौरतलब है कि तमिल पादरी पोन्नैया का विवादित और भड़काऊ बयान देने का इतिहास रहा है।

जयराम रमेश ने बताया भाजपा की शरारत

भाजपा के आरोप के जवाब में कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा है कि ऑडियो में जो कुछ भी रिकॉर्ड किया गया है, उससे कांग्रेस का कोई संबंध नहीं है। यह भाजपा की शरारत है जो भारत जोड़ो यात्रा की सफलता के बाद और अधिक हताश हो गई है। जयराम रमेश ने कहा कि भाजपा व केंद्र सरकार भारत जोड़ो यात्रा की भावना को कुचलना चाहती है। यह पूरी तरह से बोगस वीडियो है। हमने बातचीत के दौरान जो भी कहा गया था वह पूरा जारी किया है। संबंधित ट्वीट का उससे कोई लेना देना नहीं है।

'कांग्रेस के लिए संजीवनी लेकर आएगी भारत जोड़ो यात्रा'

भाजपा पर देश को तोड़ने का आरोप लगाते हुए जयराम रमेश ने कहा कि हम लोगों को एकजुट कर रहे हैं, क्योंकि भारत को आर्थिक असमानता, सामाजिक ध्रुवीकरण, राजनीतिक केंद्रीयकरण के जरिए तोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा हनुमान की तरह है और यह कांग्रेस के लिए संजीवनी लेकर आएगी।

पोन्नैया का विवादों से नाता, हो चुके गिरफ्तार

जॉर्ज पोन्नैया पादरी हैं और कई विवादित बयानों के कारण सुर्खियों में रह चुके हैं। पिछले साल जुलाई में मदुरै के कालीकुडी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, द्रमुक सरकार के मंत्री और अन्य के खिलाफ कथित रूप से अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बता दें, यात्रा के दौरान जॉर्ज पोन्नैया का राहुल गांधी के साथ एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें वह यीशु को असली भगवान बता रहे हैं।

भाजपा का तंज, कहा- 'भारत नहीं...राहुल चला रहे नफरत जोड़ो अभियान'

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा पर भारतीय जनता पार्टी हमलावर है। आए दिन इस यात्रा को लेकर भाजपा नेताओं के बयान सामने आ रहे हैं। अब भाजपा नेता शहजाद पूनावाला ने भारत जोड़ो यात्रा पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने राहुल गांधी और कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा, आज कांग्रेस ने भारत जोड़ो यात्रा का पोस्टर ब्वॅाय जॉर्ज पोन्नैया को बनाया है। यह वही व्यक्ति है, जो हिंदुओं को धमकाता है और भारत माता के खिलाफ अपमानजनक शब्द कहता है। शहजाद पूनावाला ने कहा, कांग्रेस पार्टी का हिंदू विरोधी होने का लंबा इतिहास है। राहुल गांधी नफरत जोड़ो अभियान में लगे हुए हैं।

चुनाव में मंदिर ढोकने वालों को यही है असली चेहरा : संबित

भाजपा नेता संबित पात्रा ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, ऐसा पहली बार नहीं है। कई बार ऐसे मौके आए हैं, जब सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने हिंदू धर्म के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की है। चाहें वह भगवान राम का सबूत मांगना रहा हो या मां शक्ति का मुद्दा। पात्रा ने कहा, राहुल गांधी तमाशा करने चुनाव के समय मंदिरों में जाते हैं। जब चुनाव खत्म हो जाते हैं तो तो राहुल गांधी का तमाशा खत्म हो जाता है और उनका असली चेहरा सबके सामने आ जाता है।

राहुल की टी-शर्ट को लेकर भी खड़े हुए थे सवाल

भाजपा ने शुक्रवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर निशाना साधा था। पार्टी ने दावा किया था कि 'भारत जोड़ो यात्रा' के दौरान उन्होंने जो टी-शर्ट पहनी हुई थी, उसकी कीमत 41,000 रुपये से ज्यादा थी। भाजपा ने अपने ट्विटर हैंडल से 'भारत देखो' ट्वीट किया और दो तस्वीरें पोस्ट कीं। एक तस्वीर में राहुल गांधी दिख रहे हैं जबकि दूसरी में उनके द्वारा पहनी गई शर्ट की कीमत दिखाई गई है। इसमें दावा किया गया है कि बरबेरी टी-शर्ट की कीमत 41,257 रुपये है। दिल्ली भाजपा के उपाध्यक्ष सुनील यादव ने तंज कसते हुए ट्वीट में लिखा, "कांग्रेस के शहजादे को इस 42 हजार रूपये वाली टी-शर्ट में शायद पैदल चलते समय गर्मी कम लगती होगी या फिर महंगाई इतनी है कि बेचारे से ज्यादा महंगी नहीं खरीदी गई है।" इस पर कांग्रेस ने पलटवार भी किया। कांग्रेस ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा में उमड़े जनसैलाब से भाजपा घबरा गई है।

Bharat Jodo Yatra : ‘यीशु असली भगवान, शक्ति जैसे नहीं', राहुल से वार्ता में पादरी के बयान से बवाल
Rajasthan: ट्रेन में किन्नरों का खौफ! कर रहे थे जबरन वसूली, ट्रेन से कूदे दो श्रद्धालुओं की मौत
Since independence
hindi.sinceindependence.com