J&K: घाटी में नापाक हरकतें जारी; श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में 9 घायल, त्राल में 12 किलो IED पकड़ी

कश्मीर जोन पुलिस ने ट्विटर पर बताया कि त्राल के बेहगुंड इलाके से करीब 10-12 किलो आईईडी बरामद किया गया, वहीं श्रीनगर शहर के निशात इलाके में ग्रेनेड हमला हुआ है। हमला डल झील के किनारे मुगल गार्डन के पास हुआ है। इस हमले में सात लोगों के घायल होने की सूचना है।
J&K: घाटी में नापाक हरकतें जारी; श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में 9 घायल, त्राल में 12 किलो IED पकड़ी

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर शहर के निशात इलाके में रविवार 21 अगस्त को ग्रेनेड हमला हुआ है, जिसमें नौ लोग घायल हो गए हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हमला डल झील के किनारे मुगल गार्डन के पास हुआ है। आतंकवादियों ने एक हथगोला फेंका। हमलें में घायल सात लोगों को एसएचएमएस अस्पताल ले जाया गया और दो को एसकेआईएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रविवार को ही त्राल के बेहगुंड इलाके से करीब 10-12 किलो आईईडी बरामद किया गया। बरामद आईईडी से किसी बड़ी आतंकी साजिश को अंजाम देने की कोशिश हो सकती थी।

आतंकियों की गिरफ्तारी का काम शुरू

इस धमाके को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आतंकियों की गिरफ्तारी का काम शुरू हो गया है। वहीं पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक बार फिर आतंकियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। रविवार को सुरक्षाबलों ने जिले में बरामद इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस को नष्ट कर एक बड़ा हादसा होते-होते टल दिया है। बताया जा रहा है कि इससे बड़ा आतंकी हमला हो सकता था, जिसे टाल दिया गया है।

10-12 किलो वजनी आईईडी बरामद

दरअसल, सुरक्षाबलों ने पुलवामा के त्राल के बेहगुंड इलाके से करीब 10-12 किलो वजनी आईईडी बरामद किया है। कश्मीर जोन पुलिस ने ट्विटर पर बताया कि त्राल के बेहगुंड इलाके से करीब 10-12 किलो आईईडी बरामद किया गया है। इसे नष्ट करने के लिए पुलिस और सेना काम कर रही है। एक बड़ी घटना होने से गई टल गई है।

राजौरी में सिपाही ने की आत्महत्या

उधर, राजौरी जिले में सेना के एक जवान ने कथित तौर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, 18 अगस्त को सैनिक को उसके साथियों ने मनकोट में एक सैन्य शिविर के अंदर लटका पाया और उसे तुरंत सेना के एक अस्पताल ले जाया गया। हालांकि, सिपाही ने रविवार को अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने इस संबंध में जांच शुरू कर दी है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com