Kisan Andolan 2.0: सरवन सिंह पंधेर ने बताया कि कब खत्म होगा किसान आंदोलन, WTO का फूंका पुतला

दिल्ली से सटे पंजाब और हरियाणा बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। किसान संगठन के नेता सहित सभी किसानों ने शंभू और खनौरी सीमा पर विश्व व्यापार संगठन का पुतला फूंका।
Kisan Andolan: सरवन सिंह पंधेर ने बताया कि कब खत्म होगा किसान आंदोलन, WTO का फूंका पुतला
Kisan Andolan: सरवन सिंह पंधेर ने बताया कि कब खत्म होगा किसान आंदोलन, WTO का फूंका पुतला

Kisan Andolan: दिल्ली से सटे पंजाब और हरियाणा बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। किसान संगठन के नेता सहित सभी किसानों ने शंभू और खनौरी सीमा पर विश्व व्यापार संगठन का पुतला फूंका।

ये पुतला लगभग 20 फुट ऊंचा था। इस दौरान किसानों ने वहां पर जमकर आतिशबाजी भी की। वहीं आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए बच्चे औऱ महिलाएं भी पहुंचीं। आंदोलन कर रहें किसानों केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Kisan Andolan 2.0: देश के 13 राज्यों में हो रहा आंदोलन

आंदोलन कर रहें किसानों ने शंभू बॉर्डर से लेकर राजपुरा तक ट्रैक्टर से मार्च निकाला। किसान नेता ने कहा सरवन सिंह पंधेर ने कहा कि ये आंदोलन तब तक जारी रहेगा।

जब तक सरकार सारी मांगे नहीं मान जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार के तरफ से फसलों का उचित मूल्य औऱ एमएसपी का गारंटी कानून नहीं बन जाता तब तक ये आंदोलन ऐसे ही जारी रहेगा।

नेता ने कहा कि देश के अलग-अलग 13 राज्यों के 70 हजार गांवों में विश्व व्यापार संगठन के अर्थी दहन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। ये आंदोलन पूरे देश में जा पहुंचा है। देश के कोने-कोने में आंदोलन जारी है।

Kisan Andolan: किसान नेता ने बताया कब खत्म होगा आंदोलन

किसान नेता सरवन सिंह ने कहा कि यह आंदोलन एमएसपी गारंटी कानून बनाने तक, देश के किसान-मजदूरों का कर्जा खत्म करने तक।

लखीमपुर खीरी का इंसाफ लेने तक, C2- 50 के साथ फसलों के दाम लेने तक, सभी केस वापस लेने तक, बिजली विधेयक वापस लेने तक।

प्रदूषण से खेती को बाहर निकालने तक, मजदूरों को 200 दिन मनरेगा और 700 रुपये दिहाड़ी दिलवाने तक और डब्ल्यूटीओ से भारत के बाहर आने तक जारी रहेगा।

Kisan Andolan: सरवन सिंह पंधेर ने बताया कि कब खत्म होगा किसान आंदोलन, WTO का फूंका पुतला
ताकती रह गई पाकिस्तानी वायुसेना! कैसे तबाह हो गया JeM का 'सबसे बड़ा' ट्रेनिंग कैंप

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com