लैंड जिहादः हिंदुओं की जमीनों पर फर्जी नामों से कब्जा कर रहा मुस्लिम समुदाय, गुजरात में 400 करोड़ की जमीन पर अवैध कब्जा

लैंड जिहादः हाल ही में गुजरात से लैंड जिहाद का एक मामला सामने आया है। गुजरात के खेड़ा में मुसलमानों ने जालसाजी कर और हथकंडे अपना कर 400 करोड़ रूपए की 2000 बीघा जमीन खरीद कर अपने नाम करा ली।
लैंड जिहादः गुजरात  में 2000 बीघा जमीन पर अवैध कब्जा
लैंड जिहादः गुजरात में 2000 बीघा जमीन पर अवैध कब्जा

लैंड जिहादः हाल ही में गुजरात से लैंड जिहाद का एक मामला सामने आया है। गुजरात के खेड़ा में मुसलमानों ने जालसाजी कर और हथकंडे अपना कर 400 करोड़ रूपए की 2000 बीघा जमीन खरीद कर अपने नाम करा ली।

जांच में सामने आ रहा है कि 2012 से अब तक इस जमीन की खरीद- फरोख्त में 628 मामले डाउटफुल पाए गए हैं। फिलहाल इस मामले में 500 से ज्यादा लोगों को नोटिस जारी कर सबूत पेश करने को कहा गया है।

क्या है लैंड जिहाद ?

लव जिहाद तो आपने सुना ही होगा, लेकिन अब एक नया टर्म सामने आया है। टर्म है “लैंड जिहाद, दरअसल देश में कई जगह ऐसे मामले सामने आए हैं जहां मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक जगह पर रहना शुरू किया तो धीरे धीरे वो इलाका मुस्लिम बहुल ही बन गया।

ताजा मामला तो ये है कि मुस्लिम समुदाय के लोगों ने गुजरात में जालसाजी करके 400 करोड़ की जमीन हथिया ली है। इस तरीके से एक इलाके में डेमोग्राफिक चेंज आने को ही लैंड जिहाद कहा जा रहा है।

जांच में 1930 मामले आए सामने

देश के एक प्रेस्टिजिअस अखबार दैनिक भास्कर की पड़ताल ये मामला चर्चा में आया है। बताया जा रहा है कि राज्य के राजस्व मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी खुद मतार तहसील के कार्यालय में पहुँचे, जहाँ उन्होंने जानकारी दी कि 1930 मामलों की जाँच की गई है। 400 करोड़ रुपए की 2000 बीघा जमीन फर्जी किसानों के मिलते-जुलते नामों के साथ खरीद ली गई है।

मामले में ED की भी हो सकती है एंट्री

मंत्री ने कई मामलों में अधिकारियों पर भी लापरवाही का आरोप लगाए हैं। मामले को लेकर उन्होने सवाल किया कि एक विशेष कौम के लोग भला एक ही क्षेत्र में सामूहिक रूप से जमीन क्यों खरीद रहे हैं? इसकी जाँच की जाएगी कि इनकी मंशा क्या है।

इसके लिए रुपए कहाँ से आए और किन लोगों ने दिए, इसे भी उन्होंने जाँच का विषय बताते हुए कहा कि पुलिस के साथ-साथ इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) की एंट्री भी हो सकती है।

मंदिर का नाम तक बदल दिया गया

हालांकि सवाल जायज है क्योंकि इसी मामले में वणसर इलाके में तो प्राणनाथ महादेव मंदिर की जमीन बेचने के लिए मंदिर का नाम ही बदल दिया गया।

15 अप्रैल, 2013 को खेड़ा के डीएम ने इस सम्बन्ध में आदेश जारी किया था। इसी तरह साणंद तहसील में एक हिन्दू जमीन धारक की वसीयत में मुस्लिम का नाम जोड़ दिया गया।

गड़बड़ीः कमलभाई हुआ कमालबाला, बेटा 51 का तो मां 49 की

क्रेडिटः दैनिक भास्कर

इस तर्ज पर मतार में भी कई जमीनें खरीदी गईं। अहमदाबाद में कमलभाई उपनाम को कमालबाला कर दिया गया और विरासत सम्बन्धी प्रक्रिया के तहत पीढ़ीनामा इसी अनुसार तैयार कर दिया गया। कमाल में वाला उपनाम जोड़ कर सौदे किए गए। एक तो ऐसा नाम जोड़ा गया है, जिसमें बेटे की उम्र 51 साल और माँ की आयु 49 साल दिखाई गई है। ऐसे कई सार गड़बड़ सामने आई हैं।

द्वारिका में हिन्दुओं के मात्र 1000 परिवार

ये तो इस मामले की बात हुई इसके अलावा ऑपइंडिया के मुताबिक गुजरात के द्वारिका में 7000 परिवार रहते हैं जिनमें से 6000 परिवार मुसलमान हैं, मात्र 1000 परिवार हिन्दुओं के हैं.. ध्यान रहे ये वही द्वारिका है जहां से भगवान श्री कृष्ण ने गुजरात पर शासन किया था। हिन्दु बहुल देश में हिन्दुओं तीर्थ स्थल का मुस्लिम बहुल होना वाकई में सोचने पर मजबूर करता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि ये कोई एकमात्र या पहला मामला नहीं है जहां पर इस तरह से जमीनों पर कब्जा किया जा रहा है। ऐसी कई मामले सामने आते रहे हैं। पूरे देश से ऐसे मामले सामने आये हैं लेकिन या तो लोग डर की वजह से शिकायत नहीं करते या फिर शिकायत के बावजूद मिलीभगत होने से प्रशासन कार्रवाई नहीं करता ।

कश्मीर मैं लैंड जिहाद का ही परिणाम है हिंदुओं का पलायन

संविधान के अनुसार हर भारतीय नागरिक को देश के किसी भी हिस्से में बसने का अधिकार है और संविधान में यह सुनिश्चित किया गया है कि किसी के भी साथ कोई भेदभाव न हो। यहीं नहीं संविधान प्रत्येक भारतीय को सुरक्षा भी देता है। अगर कश्मीर जैसी जगहों के भारत के इतिहास को देखें तो यहाँ जनसंख्या में परिवर्तन के कारण हिंदुओं को अपनी जान और धार्मिक पहचान बचाने के लिए पलायन करना पड़ा था। लेकिन गुजरात जैसे क्षेत्रों में हो रहा डेमोग्राफिक चेंज एक हकीकत है और इसे एक चेतावनी के रूप में लिया जाना चाहिए।

लैंड जिहादः गुजरात  में 2000 बीघा जमीन पर अवैध कब्जा
Love Jihad: हिंदू लड़कियों को फांसने का बना हथियार, बिहार में दीपक बन उमर अली ने धोखे से की शादी, फिर ढहाये जुल्म
Since independence
hindi.sinceindependence.com