Monsoon Session: हंगामे को लेकर कांग्रेस के 4 सांसद लोकसभा से पूरे सत्र के लिए निलंबित

संसद में हंगामा करने के चलते लोकसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर राम्या हरिदास ज्योतिमणि और टीएन प्रतापन को पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया है। विपक्ष कई दिनों से संसद में हंगामा कर रहा है।
Monsoon Session: हंगामे को लेकर कांग्रेस के 4 सांसद लोकसभा से पूरे सत्र के लिए निलंबित

संसद के मानसून सत्र का आज 25 जुलाई को छठा दिन रहा। सत्र की शुरुआत से ही विपक्ष के हंगामे के चलते संसद की कार्यवाही एक दिन भी पूरी नहीं हो सकी है। आज सोमवार को भी संसद में एक बार फिर विपक्ष ने हंगामा किया, जिसके बाद कांग्रेस के 4 सांसदों को निलंबित कर दिए गए। गौरतलब है कि कई दिनों से विपक्ष संसद में महंगाई और अग्निपथ योजना को लेकर हंगामा कर रहा है। विपक्ष की मांग है कि सरकार इन मुद्दों पर चर्चा कराए।

इन सांसदों पर की गई कार्रवाई

सोमवार को जैसे ही लोकसभा की कार्यवाही शुरू हुई विपक्ष ने एक बार फिर हंगामा मचाना शुरु कर दिया। इसके चलते कांग्रेस के लोकसभा सांसद मणिकम टैगोर, राम्या हरिदास, ज्योतिमणि और टीएन प्रतापन को पूरे मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया है।

सरकार चर्चा को तैयार नहीं : खड़गे

इस बीच कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि संसद की कार्यवाही सुचारु रूप से चले इसके लिए सरकार जिम्मेदार है। खड़गे ने कहा कि विपक्ष कई दिनों से महंगाई समेत कई मुद्दों पर चर्चा करना चाहती है, लेकिन अभी तक विपक्ष को बातचीत के लिए नहीं बुलाया गया है। जिससे यह स्पष्ट है कि सरकार सदन में चर्चा के लिए तैयार नहीं है।

पहला हफ्ता भी चढ़ा था हंगामे की भेंट

गौरतलब है कि मंहगाई और जरूरी वस्तुओं पर जीएसटी बढ़ाने के खिलाफ विपक्षी ने मानसून सत्र के पहले हफ्ते भी खूब हंगामा किया था। विपक्षी दलों के आक्रामक तेवर के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही किसी भी दिन पूरी नहीं हो सकी थी। सरकार और विपक्ष में तकरार की वजह से किसी भी मुद्दे पर सार्थक चर्चा नहीं हो सकी है।

Monsoon Session: हंगामे को लेकर कांग्रेस के 4 सांसद लोकसभा से पूरे सत्र के लिए निलंबित
Thug Gang: 'सौ करोड़ में राज्यपाल, राज्यसभा सीट देने का वादा', CBI ने किया रैकेट का भंडाफोड़

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com