कसाई मोहल्ला में बरसे पत्थर; Acid Attackका भी दावाः सरस्वती प्रतिमा तोड़ा, विसर्जित करने निकले थे हिंदू, दरभंगा से लेकर सीतामढ़ी तक उपद्रव

News: बिहार के दरभंगा और सीतामढ़ी में मां सरस्वती की मूर्ति के विसर्जन के दौरान पथराव और झड़प की घटनाएं सामने आई हैं।
कसाई मोहल्ला में बरसे पत्थर; Acid Attackका भी दावाः सरस्वती प्रतिमा तोड़ा, विसर्जित करने निकले थे हिंदू, दरभंगा से लेकर सीतामढ़ी तक उपद्रव
कसाई मोहल्ला में बरसे पत्थर; Acid Attackका भी दावाः सरस्वती प्रतिमा तोड़ा, विसर्जित करने निकले थे हिंदू, दरभंगा से लेकर सीतामढ़ी तक उपद्रव

News: बिहार के दरभंगा और सीतामढ़ी में मां सरस्वती की मूर्ति के विसर्जन के दौरान पथराव और झड़प की घटनाएं सामने आई हैं।

इसमें पहली घटना दरभंगा की है, जहां मूर्ति विसर्जन के लिए निकले जुलूस पर पत्थरबाजी की गई और तेजाब फेंका गया।

बताया जा रहा है कि जब मूर्ति विसर्जन के लिए जुलूस मस्जिद से थोड़ी दूर पहले मुड़ रहा था, तभी उस पर पत्थरबाजी शुरू हो गई।

सरस्वती प्रतिमा को भी दिया तोड़

Media Reports के मुताबिक, ये घटनाक्रम भालपट्टी ओपी के मुड़िया पंचायत स्थित कसाई टोला का है। यहां शाम करीब 5 बजे मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे लोग पर पत्थरबाजी की गई।

बताया जा रहा है कि मूर्ति विसर्जन के रास्ते से दो ट्रैक्टरों को पहले भी लौटाया जा चुका था। पत्थरबाजी की इस घटना में काफी लोग घायल हो गए।

रिपोर्ट के मुताबिक पत्थरबाजी शुरू होते ही अचानक भगदड़ मच गयी, लोग प्रतिमा को छोड़कर वहां से भागे। इस दौरान सरस्वती प्रतिमा को भी तोड़ दिया गया, जिसके बाद लोग भड़क उठे।

इसके बाद भीड़ ने घरों-दुकानों में भी तोड़फोड़ की। इस दौरान कई गाड़ियों को भी निशाना बनाने की बात आई। उपद्रव की सूचना मिलते ही दरभंगा के डीएम, एसएसपी और भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुँचा और लोगों को शांत कराया।

DM राजीव रौशन ने कही ये बात

इस बवाल के बाद दरभंगा के डीएम राजीव रौशन खुद पूरी रात उपद्रव की जगह पर कैंप करते रहे।

मीडिया से बातचीत में DM राजीव रौशन ने कहा, “मुरिया पंचायत में प्रतिमा विसर्जन के दौरान दो समुदायों के बीच झड़प हो गई। हमने दोनों पक्षों से बातचीत की और विसर्जन के काम को आगे बढ़ाया।

उन्होंने आगे बताया, “प्रतिमा विसर्जन का रास्ता कहां से मुड़ना है, कोई पांच कदम आगे, तो कोई थोड़ा पीछे, यहीं से ये विवाद शुरू हुआ, जिसमें पथराव हो गया।

कई घरों के शेड भी टूटे हैं। DM ने कहा कि उपद्रवियों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

तेजाब फेंकने की बात पर उन्होंने कहा कि ऐसी बात सामने आ रही है, जाँच के बाद कार्रवाई की जाएगी।

इस्लामिक भीड़ ने सरस्वती पूजा मूर्ति विसर्जन यात्रा पर किया हमला

दरभंगा सदर के अनुमंडल पुलिस अधिकारी ने बताया, “शाम लगभग पाँच बजे भालपट्टी थाना के मुरिया गांव में सरस्वती प्रतिमा के विसर्जन के दौरान दो पक्षों में झड़प हुई, जिसमें कई लोग घायल भी हो गए।

घटना की जानकारी मिलते ही वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचे। मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया है और मजिस्ट्रेट भी नजर रख रहे हैं। जाँच के हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल मौके पर शांति है।

 त्रीनि नाम के यूजर ने लिखा, “इस्लामिक भीड़ ने सरस्वती पूजा मूर्ति विसर्जन यात्रा पर हमला कर दिया। उन्होंने मां सरस्वती की मूर्ति को तोड़ डाला। इस दौरान हिंदुओं के घरों पर हमले हुए, कई लोग घायल हो हुए।

 पत्रकार स्वाति शर्मा गोयल ने दरभंगा हिंसा से जुड़े वीडियो शेयर किए। उन्होंने इस घटनाक्रम के बार में लिखा, “ये वीडियो बिहार के दरभंगा की हैं। यहां सरस्वती पूजा कार्यक्रम के दौरान कसाई मोहल्ला पहुंचते ही हमला कर दिया गया।

एक हिंदू त्यौहार को हिंसक घटनाक्रम में बदल दिया गया, जिसमें कई लोग घायल हो गए हैं। उन्होंने आगे ऐतिहासिक गलतियों का भी जिक्र किया है।

 दरभंगा की तरह ही सीतामढ़ी से ही ऐसी ही घटना सामने आई। भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, सीतामढ़ी के परिहार थाना क्षेत्र में माता सरस्वती की प्रतिमा का विसर्जन करने जा रहे समूह पर पत्थरबाजी की गई।

ये घटनाक्रम मसहा टोला वार्ड नंबर 13 का है। जानकारी के मुताबिक, प्रतिमा विसर्जन के लिए निकाली गई यात्रा पर पथराव हुआ, तो जवाब में दूसरी तरफ से भी पत्थर फेंके गए। इसमें कई लोग घायल भी हो गए।

इस घटना की जानकारी मिलते ही थानाध्यक्ष राजकुमार गौतम ने स्थिति को संभाला। फिलहाल यहाँ भी स्थिति नियंत्रण में है। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

कसाई मोहल्ला में बरसे पत्थर; Acid Attackका भी दावाः सरस्वती प्रतिमा तोड़ा, विसर्जित करने निकले थे हिंदू, दरभंगा से लेकर सीतामढ़ी तक उपद्रव
कुंवारी या शादीशुदा… कम उम्र वाली सुंदरी को चुनते हैं, रात भर उठाकर ‘भोगते’, मन भर जाने पर सुबह घर भेज देते हैं, जानिए क्या झेल रहीं बंगाल में संदेशखाली की महिलाएं

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com