Terrorist Attack: दो दिन में J&K में तीसरा आतंकी हमला, अनंतनाग में पुलिसकर्मी घायल

कश्मीर घाटी में इन दिनों आतंकवाद फिर से जोर पकड़ रहा है। शुक्रवार को अनंतनाग के बिजबिहाड़ा इलाके में एक और आतंकी हमला हुआ, जिसमें एक पुलिसकर्मी घायल होने के समाचार हैं। सुरक्षाबल की टीमों ने इलाके को घेर कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। जम्मू कश्मीर में दो दिन में यह तीसरा आंतकी हमला है।
Terrorist Attack: दो दिन में J&K में तीसरा आतंकी हमला, अनंतनाग में पुलिसकर्मी घायल

कश्मीर संभाग में जिला अनंतनाग के बिजबिहाड़ा इलाके में शुक्रवार दोपहर को पुलिस और सीआरपीएफ की संयुक्त पार्टी पर आतंकी हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि इस हमले में एक पुलिसकर्मी घायल हो गया है, जिसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। हमले की जानकारी मिलते ही सुरक्षाबल की टीमें मौके पर पहुंच गई हैं। टीमों ने इलाके को घेर कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। जम्मू कश्मीर में दो दिन में यह तीसरा आंतकी हमला है। इससे पहले गुरुवार-शुक्रवार की रात को बांदीपोरा में दहशतगर्दों ने गैर-कश्मीरी मजदूरों को निशाना बनाया था। गुरुवार सुबह जम्मू संभाग के राजोरी में आतंकियों ने एक सैन्य कैंप पर फिदायीन हमला किया था।

बांदीपोरा में मजदूर को बनाया निशाना

गुरुवार-शुक्रवार रात करीब 12.20 बजे बांदीपोरा में आतंकियों ने गैर-स्थानीय मजदूर पर फायरिंग की। इस हमले में मजदूर गोली लगने से घायल हो गया। जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। इस हमले को लेकर कश्मीर जोन पुलिस ने बताया कि देर रात आतंकियों ने बांदीपोरा के सोदनारा सुंबल में बिहार निवासी मजदूर मोहम्मद अमरेज पर फायरिंग की। वह गोली लगने से घायल हो गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। हमलावरों की तलाश में सुरक्षाबलों की संयुक्त टीम तलाशी अभियान चलाया गया।

राजोरी में सैन्य कैंप पर फिदायीन हमला

गुरुवार मध्य रात्रि को करीब तीन बजे जब भारतीय सेना के जवान अपने कैंप में सो रहे थे तो दो आतंकवादियों ने अंधेरे, खराब मौसम और ऊंची घणी घास का फायदा उठाते हुए आतंकियों ने फिदायीन हमला किया। पहले ग्रेनेड फेंके और उसके बाद ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू कर दी। भारतीय सेना के कैंप में ड्यूटी पर तैनात जवानों ने भी मोर्चा संभाला। सेना के जवानों ने भी फायरिंग शुरू कर दी। करीब तीन घंटे चली इस भीषण मुठभेड़ में भारतीय सेना ने दो आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया। इस भीषण गोलाबारी में भारतीय सेना के 6 जवान घायल हो गए, जिनमें से चार जवानों ने वीरगति को प्राप्त किया।

प्रवासी मजदूर और सरकारी कर्मचारियों में खौफ

गौरतलब है कि कश्मीर घाटी में टारगेट किलिंग्स के कारण सरकारी कर्मचारी और प्रवासी मजदूर दहशत में देखे जा रहे हैं. आतंकियों द्वारा यहां पर टीवी आर्टिस्ट, बैंक मैनेजर को भी निशाना बनाया रहा है. पिछले महीनों में लगातार हो रही घटनाओं ने चिंता बढ़ा दी थी. तब 26 दिन में टारगेट किलिंग की 10 घटनाएं सामने आने के बाद अब वहां से पलायन भी शुरू हो गया था.।

Terrorist Attack: दो दिन में J&K में तीसरा आतंकी हमला, अनंतनाग में पुलिसकर्मी घायल
दिल्ली पुलिस ने बड़ी साजिश की नाकाम, 2000 जिंदा कारतूस बरामद; 6 तस्कर दबोचे
Since independence
hindi.sinceindependence.com