भारत में सर तन से जुदा का खेल लगातार जारी, मध्यप्रदेश में रेलवे ट्रैक पर मिली छात्र की लाश, परिजनों को मिले मैसेज से सनसनी

भोपाल-नर्मदापुरम रेलवे ट्रैक पर मृत पाया गया बीटेक छात्र, परिवार सदमे में, पुलिस को लग रहा आत्महत्या का मामला, लेकिन नहीं मिला मौके से कोई सुसाइड नोट
भारत में सर तन से जुदा का खेल लगातार जारी, मध्यप्रदेश में रेलवे ट्रैक पर मिली छात्र की लाश, परिजनों को मिले मैसेज से सनसनी

‘सर तन से जुदा’ का जहर देश में रुकने का नाम नहीं ले रहा है अब खबर मध्यप्रदेश के भोपाल से सामने आई है । जहा बीटेक के छात्र का शव रविवार 24 जुलाई की रात को भोपाल-नर्मदापुरम रेलवे ट्रैक पर मिला। पुलिस को मिदघाट बरखेड़ा के पास से उसकी स्कूटी और मोबाइल भी मिला है। उसी रात, छात्र के इंस्टाग्राम आईडी से उसके पिता और दोस्तों के व्हाट्सएप पर एक स्क्रीनशॉट आया। उस पर एक छात्र की फोटो है। इस फोटो पर लिखा है- गुस्ताख-ए-नबी की एक ही सजा, सर तन से जुदा…. अब इसको लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

टीटी नगर टीआई चैन सिंह रघुवंशी के अनुसार मूल रूप से सिवनी मालवा निवासी निशंक राठौर (20) पुत्र उमाशंकर राठौर ओरिएंटल कॉलेज भोपाल में बी.टेक में 5वें सेमेस्टर का छात्र था । पुलिस को शुरुआती जांच में मामला आत्महत्या का लग रहा है । छात्र के बारे में जानकारी मिली कि वह शेयर बाजार में निवेश करता था । आशंका है कि उसे नुकसान हुआ होगा और वह तनाव में आ गया होगा। हालांकि उनकी मौत के कारणों का खुलासा पीएम रिपोर्ट समेत अन्य तथ्यों की जानकारी जुटाने के बाद ही होगा। पुलिस के द्वारा हर पहलू से जांच की जा रही हैं ।

सुसाइड नोट नहीं मिला

मैसेज मिलने पर उसके दोस्त टीटी नगर थाने पहुंचे। इसी बीच रायसेन पुलिस को छात्र का शव मिलने की सूचना मिली । कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि मौत के बाद छात्र का मोबाइल कौन चला रहा था । छात्रा दो बहनों में इकलौता भाई था । मृतक के दोस्तों ने बताया कि उसके एक दोस्त प्रखर को छात्रा के मोबाइल, इंस्टाग्राम, फेसबुक आईडी की जानकारी थी । पुलिस प्रखर से पूछताछ कर रही है।

निशंक ने अपने फेसबुक प्रोफाइल में खुद को नोएडा का एक सॉफ्टवेयर डेवलपर बता रखा है । पुलिस के मुताबिक निशंक दो साल तक इंद्रपुरी के हॉस्टल में रहा । हाल ही में हॉस्टल से निकलकर जवाहर चौक शास्त्री नगर में दोस्तों के साथ रूम शेयर कर रह रहा था।

दीदी से मिलने गया था निशंक

निशंक रविवार दोपहर तीन बजे अपनी बड़ी बहन से मिलने भोपाल के साकेत नगर परीक्षा केंद्र पर आया था। यह बात उसने अपने चचेरे भाई शशांक को बताई । रात 8 बजे उसके पिता और दोस्तों को उसके मोबाइल से उसकी फोटो वाला मैसेज आया । मैसेज पढ़कर डरे पिता ने बेटे के दोस्तों को फोन किया । दोस्त ने टीटी नगर थाने पहुंचकर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। तब तक रायसेन पुलिस ने बरखेड़ा इलाके में रेलवे ट्रैक से उसका शव बरामद कर लिया था । निशंक के पिता उमाशंकर राठौर हरदा में सहकारिता विभाग में पदस्थापित हैं। घटना की जानकारी मिलने के बाद वह देर रात बरखेड़ा पुलिस चौकी भी पहुंचे ।

सीसीटीवी में अकेले जाते दिखा

पुलिस ने भोपाल से रायसेन तक के सीसीटीवी फुटेज खंगाले । निशंक अकेले स्कूटी से जाते नजर आ रहा हैं । पुलिस ने फुटेज को मंडीदीप तक चेक किया, जिसमें वह अकेला नजर आ रहा था। टीटी नगर टीआई चैन सिंह रघुवंशी ने बताया कि रास्ते में उसने 450 रुपये का पेट्रोल भरवाया, तब भी वह अकेला था।

3 बजे के बाद फ़ोन लगना बंद हुआ

निशंक के चचेरे भाई शशांक ने बताया कि रविवार दोपहर 12 बजे उसने अपने दोस्त राज से फोन पर बात की थी । इसके बाद उसने अपने पिता से बात की। शशांक का कहना है कि देर शाम जब हमने फोन किया तो रिसीव नहीं हुआ। यह सिलसिला देर रात तक चलता रहा। जब पता चला कि उसका शव रायसेन में मिला है, तब भी उसका फोन चालू था।

छात्र के नाम पर भड़काऊ पोस्ट

सोशल मीडिया पर छात्र के लापता होने को लेकर दो मैसेज वायरल हो रहे हैं । एक में निशंक राठौर नाम के स्टेटस पर शेयर दिखाते हुए एक धार्मिक पोस्ट है। वहीं दूसरे पोस्ट में निशंक के लापता होने का मैसेज वायरल हो रहा है हालांकि सिंस इंडिपेंडेस इन दोनों ही पोस्ट की पुष्टि नहीं करता है।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com