दहेज के लिए प्रताड़ना: जबरन पिलाया तेजाब: पति शाहरुख के साथ ससुर गिरफ्तार, चार अब भी फरार

हरिद्वार के पथरी थाना क्षेत्र में दहेज के लिए पीड़िता को दहेज के लिए परेशान कर रहे ससुराल वालों ने जबरन तेजाब पीला दिया। कार्रवाई करते हुए पुलिस ने पुलिस ने मृतका के पति व ससुर को गिरफ्तार कर लिया है।
दहेज के लिए प्रताड़ना: जबरन पिलाया तेजाब: पति शाहरुख के साथ ससुर गिरफ्तार, चार अब भी फरार

हरिद्वार के पथरी थाना क्षेत्र से मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां पर पिछले 4 साल से पीड़िता को दहेज के लिए परेशान कर रहे ससुराल वालों ने जबरन तेजाब पीला दिया। इलाज के दौरान पीड़िता ने दम तोड़ दिया। मामले में पथरी थाना पुलिस ने मृतका के पति व ससुर को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में ससुराल पक्ष के चार लोग अभी भी फरार हैं, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। आरोप है कि ससुराल वालों ने विवाहिता को दहेज के लिए तेजाब पीला दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

दहेज और हत्या का मामला दर्ज

पुलिस के अनुसार मृतका के पिता ने ससुराल के 6 लोगों पर दहेज और हत्या का आरोप लगाकर मामला दर्ज कराया है। मृतक के पिता ने पुलिस को बताया था कि उसकी 23 वर्षीय बेटी अलसबा की शादी करीब चार साल पहले घिसूपुरा के शाहरुख से हुई थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही शाहरुख और उनके परिवार वाले अलसबा को दहेज के लिए लगातार प्रताड़ित कर रहे थे।

निकाह के बाद से लगातार दहेज के लिए किया जा रहा था प्रताड़ित

पिता के द्वारा दी गई रिपोर्ट के अनुसार एक बार तो ससुराल वालों ने अलसाबा को पीट-पीटकर घर से ही निकाल दिया था। हालांकि गांव के कुछ लोगों ने समझौता करा कर अलसबा को फिर से ससुराल में भेज दिया था, लेकिन वहां उसे फिर से दहेज के लिए प्रताड़ित किया गया।

जबरन जहर देकर की थी मारने की कोशिश

आरोप है कि करीब चार महीने पहले अलसबा को उसके ससुराल वालों ने जबरन जहर दे दिया, जिससे उसकी तबीयत बिगड़ गई। अलसाबा कई दिनों तक अस्पताल में रहीं। पिछले कुछ समय से उनका घर पर इलाज चल रहा था। इन दिनों अलसबा अपने मायके में रह रही थी।

अलसबा की दो दिन पहले मौत हो गई

अलसबा की दो दिन पहले मौत हो गई थी। इसके बाद परिजनों ने दहेज हत्या के मामले में पुलिस को शिकायत दी और उसका पोस्टमॉर्टम कराया। पुलिस ने आज अलसबा के पति और ससुर को गिरफ्तार कर लिया, जबकि परिवार के चार अन्य सदस्य फरार हैं, जिनकी पुलिस तलाश कर रही है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com