जेल से निकल समर्थकों से मिलकर भावुक हुए आजम, शिवपाल ने किया रिसीव

आजम खान आज 27 महीने बाद जेल से बाहर आए हैं। आजम के दोनों बेटे और प्रसपा प्रमुख शिवपाल यादव आजम को रिसीव करने जेल पहुंचे। जेल के बाहर समर्थकों से मिलकर आजम भावुक हो गए और उनकी आंखे नम हो गई।
जेल से निकल समर्थकों से मिलकर भावुक हुए आजम, शिवपाल ने किया रिसीव
आजम खान

रामपुर से सपा विधायक आजम खान 27 महीने के लंबे समय के बाद जेल से रिहा हुए हैं। जेल से बाहर आए आजम को उनके दोनों बेटों अब्दुल्ला और अदीब ने रिसीव किया। वहीं अखिलेश यादव के चाचा यानि शिवपाल यादव भी इस दौरान साथ रहे। जेल से बाहर निकले आजम को समर्थकों ने घेर लिया। इस दौरान आजम भावुक हो गए और उनकी आंखें भर आईं।

आजम हमारे साथी हैं – शिवपाल

प्रसपा प्रमख शिवपाल यादव ने खुद सीतापुर जेल के बाहर पहुंचकर आजम खान से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच कुछ देर तक बातचीत हुई। फिर शिवपाल अपनी गाड़ी से लखनऊ के लिए रवाना हो गए। मीडिया से बात करते हुए शिवपाल ने कहा कि- आजम खान हमारे साथी हैं।

अखिलेश ने ट्वीट कर किया आजम का स्वागत

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने गुरूवार को आजम खान को जमानत मिलने पर कोई प्रतिक्रिया नही जताई थी जिसकी वजह से वो ट्रोलर्स के निशाने पर आ गए थे। लेकिन शुक्रवार सुबह आजम की रिहाई होने के बाद अखिलेश ने ट्वीट कर आजम का स्वागत किया और उनको बधाई दी।

सपा से अलग हुए आजम तो पार्टी को मुस्लिम वोटर्स का भी होगा नुकसान

बता दें कि अखिलेश और आजम के रिश्तों में दरार पड़ने की खबरें सामने आ रही है। अगर ये खबरें सच साबित होती हैं तो कहीं न कहीं सूबे की राजनीति एक नया मोड़ ले सकती है। यूपी में मुस्लिम वोट शुरू से ही सपा की ताकत रहें है लेकिन अगर आजम खान सपा से अलग होते हैं तो कहीं न कहीं बड़ी संख्या में मुस्लिम वोट सपा से किनारा कर सकते हैं।

सूबे में आजम की सियासी ताकत से हर एक पार्टी वाकिफ है। इसी वजह से कांग्रेस से लेकर बसपा तक हर पार्टी ने आजम को पार्टी में लाने के लिए खूब जोर लगाए हैं। शिवपाल यादव ने भी जेल में जाकर आजम खान से मुलाकात की थी समझा जा रहा है कि दोनों नेता मिलकर नई पार्टी बना सकते हैं।

आजम खान
सेक्स वर्कर्स का भी होगा आधार : SC ने UIDAI को दिए निर्देश, कहा- हर व्यक्ति से सम्मान पूर्ण व्यवहार मूलभूत अधिकार

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com