अग्निवीरों के आरक्षण पर बोले जयंत सिंह- 'खच्चरों को घोड़ा बनाने की कोशिश में जुटी सरकार'

Agnipath Scheme पर अग्निवीरों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने RLD नेता जयंत सिंह ने सरकार पर निशाना साधा वहीं राहुल गांधी ने भी योजना को वापस लेने की बात कही।
अग्निवीरों के आरक्षण पर बोले जयंत सिंह- 'खच्चरों को घोड़ा बनाने की कोशिश में जुटी सरकार'

Agnipath Scheme: अग्निपथ योजना पर देश में चल रहे बवाल के बीच शनिवार को गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में अग्निवीरों को 10% का आरक्षण दिया जाएगा। सरकार की इस घोषणा के बाद विपक्ष ने उन पर निशाना साधना शुरु कर दिया है।

खच्चर को घोड़ा बनाने की कोशिश कर रही सरकार - जयंत सिंह

सरकार की घोषणा के बाद राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के नेता और राज्यसभा सांसद जयंत सिंह (Jayant Singh) ने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि सरकार द्वारा "खच्चर को घोड़ा बनाने की कोशिश जारी!" है।

बतां दें कि इससे पहले उन्होंने ट्वीट किया था कि हमारी प्रार्थना है कि सरकार युवा और जनता की भावनाओं का सम्मान करे, देश में शांति बने और किसान मज़दूर परिवारों के सभी सदस्य खुशहाल हों। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की समाधि किसान घाट पर मौन धारण किया है।

राहुल गांधी ने कही योजना वापस लेने की बात
इसी बीच कांग्रेस नेता और सांसद राहुल गांधी ने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि सरकार पिछले 8 सालों से किसानों के मूल्यों का अपमान कर रही है। लेकिन जिस तरह प्रधानमंत्री जी को काले कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे, ठीक उसी तरह उन्हें ‘माफ़ीवीर' बनकर देश के युवाओं की बात माननी ही पड़ेगी और 'अग्निपथ योजना’ को वापस लेना होगा।
अग्निवीरों के आरक्षण पर बोले जयंत सिंह- 'खच्चरों को घोड़ा बनाने की कोशिश में जुटी सरकार'
अग्निपथ की राह पर देश लथपथ लथपथ...11 राज्यों में युवा हूंकार सिस्टम पस्त

अग्निवोरों को मिलेंगा आरक्षण

बता दें कि गृह मंत्रालय ने फैसला लिया है कि CAPFs और असम राइफल्स में अग्निवीरों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा। इसके साथ ही गृह मंत्रालय ने CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती होने वाले अग्निवीरों को निर्धारित अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट देने का निर्णय किया है और अग्निपथ योजना के पहले बैच के लिए यह छूट 5 वर्ष होगी।

अग्निपथ की आग में जल रहा देश

बता दें केंद्र ने सशस्त्र बलों में लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर जवानों की भर्ती के लिए 14 जून को देश में ‘अग्निपथ’ योजना की घोषणा की थी। इस योजना के विरोध में देशभर में व्यापक प्रदर्शन हुए हैं।

बिहार, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, सहित कई राज्यों में प्रदर्शनकारियों ने सार्वजनिक संपत्ति में आग लगा दी। आज भी इसके विरोध में बिहार में छात्र संगठन द्वारा बंद का ऐलान किया गया है।

अग्निवीरों के आरक्षण पर बोले जयंत सिंह- 'खच्चरों को घोड़ा बनाने की कोशिश में जुटी सरकार'
Agnipath Scheme पर बोले असदुद्दीन ओवैसी, "PM मोदी की तपस्या में कमी रह गई"
Since independence
hindi.sinceindependence.com