सुप्रीम कोर्ट ने लांघी मर्यादा? पूर्व जजों ने लिखी CJI को चिट्ठी

सभी ने सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा चीफ जस्टिस एनवी रमना को एक खत लिखा है और कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने लक्ष्मण रेखा का उल्लंघन है। चिट्ठी में पूर्व जजों ने साथ ही में नूपुर शर्मा के मामले में तुरंत अदालत को सुधार संबंधी कदम उठाने की सलाह भी दी है ।
सुप्रीम कोर्ट ने लांघी मर्यादा? पूर्व जजों ने लिखी CJI को चिट्ठी

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने नूपुर शर्मा के बयान के सिलसिले में तल्ख़ टिप्पणी की थी और कहा था की मौजूदा समय में देश में चल रहे तनाव की जिम्मेदार नूपुर शर्मा अकेली है।

ये सुनवाई जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस जेबी पारदीवाला की अध्यक्षता में हुई थी। सुप्रीम कोर्ट की इस टिप्पणी पर अब देश के पूर्व जज और रिटायर्ड नौकरशाहों ने प्रतिक्रिया दी है। इन सभी ने सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा चीफ जस्टिस एनवी रमना को एक खत लिखा है और कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने लक्ष्मण रेखा का उल्लंघन है। चिट्ठी में पूर्व जजों ने साथ ही में नूपुर शर्मा के मामले में तुरंत अदालत को सुधार संबंधी कदम उठाने की सलाह भी दी है ।

15 पूर्व जज और 77 रिटायर्ड नौकरशाहों ने करें दस्तखत
बता दे की इस चिट्ठी पर 15 रिटायर्ड जजों, 77 रिटायर्ड नौकरशाहों और 25 रिटायर्ड सैन्य अधिकारियों के दस्तखत हैं। इस खत में कहा गया है कि जस्टिस सूर्यकांत त्रिपाठी की टिप्पणियों और आदेशों को वापस लेने का निर्देश दिया जाना चाहिए।
Q

किस किस ने किये दस्तखत?

A

दस्तखत करने वालों में केरल हाईकोर्ट के जस्टिस पीएस रविंद्रन, बॉम्बे हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस क्षितिज व्यास, गुजरात हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस एसएम सोनी, राजस्थान हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस आरएस राठौर और प्रशांत अग्रवाल, दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस एसएन ढींगरा भी शामिल हैं।

इसके अलावा पूर्व IAS अधिकारी आरएस गोपालन और एस कृष्ण कुमार, राजदूत (रिटायर) निरंजन देसाई, पूर्व DGP एसपी वैद, बी एल वोहरा, लेफ्टिनेंट जनरल वी के चतुर्वेदी (रिटायर) ने भी हस्ताक्षर किए हैं। इन सभी का मानना है की नूपुर शर्मा के मामले में सुप्रीम कोर्ट के जजों के कमेंट न्यायिक मूल्यों से मेल नहीं खाते हैं। इसीलिए उन्हें वापस लेने का निर्देश दिया जाना चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने लांघी मर्यादा? पूर्व जजों ने लिखी CJI को चिट्ठी
दिल्ली से दुबई जाने वाली फ्लाइट की पाकिस्तान में इमरजेंसी लैंडिग, जानिए बड़ी वजह
Q

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा था ?

A

दरअसल नूपुर शर्मा के बयान के बाद से ही उनके ऊपर देश भर में कई तरह के केस दर्ज हो गए थे। वे सुप्रीम कोर्ट में सभी केस को एक जगह ट्रांसफर करने की अर्जी लेकर कोर्ट पहुंची थी इसी दौरान कोर्ट ने नूपुर शर्मा मामले में तल्ख़ टिप्पणी की थी। जाने क्या कहा था सुप्रीम कोर्ट ने

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com