दो शूटर्स की गिरफ्तारी के बाद आया नया पेंच, 'राजस्थान या दिल्ली पुलिस'- किसे मिले 5-5 लाख की इनामी राशि?

Crime News :दिल्ली पुलिस की टीम शूटर रोहित राठौड़ व उधम सिंह को व जयपुर पुलिस टीम शूटर नितिन फौजी को जयपुर के लिए लेकर रवाना हुई, लेकिन दिल्ली पुलिस अपनी कस्टडी में दोनों आरोपियों को दिल्ली ले गई। जबकि जयपुर पुलिस नितिन फौजी को जयपुर लेकर पहुंच गई।
दो शूटर्स की गिरफ्तारी के बाद आया नया पेंच, 'राजस्थान या दिल्ली पुलिस'- किसे मिले 5-5 लाख की इनामी राशि?
दो शूटर्स की गिरफ्तारी के बाद आया नया पेंच, 'राजस्थान या दिल्ली पुलिस'- किसे मिले 5-5 लाख की इनामी राशि?image credit: sinceindependence

Crime News: दिल्ली पुलिस की टीम शूटर रोहित राठौड़ व उधम सिंह को व जयपुर पुलिस टीम शूटर नितिन फौजी को जयपुर के लिए लेकर रवाना हुई, लेकिन दिल्ली पुलिस अपनी कस्टडी में दोनों आरोपियों को दिल्ली ले गई।

जबकि जयपुर पुलिस नितिन फौजी को जयपुर लेकर पहुंच गई। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या के बाद दोनों शूटर पकड़ाने वाले को 5-5 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा के बाद पुलिस में प्रतिस्पर्धा हो गई।

संयुक्त रूप से तीनों आरोपियों को पकड़ा था

जयपुर पुलिस टीम के तीनों निरीक्षकों के साथ दिल्ली स्पेशल पुलिस की एक टीम ने संयुक्त रूप से शूटर रोहित सिंह राठौड़, नितिन फौजी व उनकी मदद करने वाले उधम सिंह का पीछा किया। संयुक्त रूप से तीनों आरोपियों को पकड़ा।

इसके बाद दिल्ली पुलिस की टीम शूटर रोहित राठौड़ व उधम सिंह को व जयपुर पुलिस टीम शूटर नितिन फौजी को जयपुर के लिए लेकर रवाना हुई, लेकिन दिल्ली पुलिस अपनी कस्टडी में दोनों आरोपियों को दिल्ली ले गई।

जबकि जयपुर पुलिस नितिन फौजी को जयपुर लेकर पहुंच गई। बाद में दिल्ली पुलिस ने रविवार को प्राथमिक पूछताछ के बाद प्रेसवार्ता की और फिर दोनों आरोपियों को खुद की कस्टडी में ही जयपुर लेकर पहुंची।

चर्चा है कि इनाम की राशि के बंटवारे को लेकर दिल्ली पुलिस व जयपुर पुलिस में आपसी खींचतान रही, जिसके चलते दिल्ली पुलिस ने प्रेसवार्ता कर पहले ही श्रेय लिया। डीजीपी उमेश मिश्रा पुलिस कमिश्नर से प्रस्ताव मिलने के बाद इनाम की राशि जारी करेंगे।

दो शूटर्स की गिरफ्तारी के बाद आया नया पेंच, 'राजस्थान या दिल्ली पुलिस'- किसे मिले 5-5 लाख की इनामी राशि?
क्या BJP राजस्थान का CM चुनने के लिए अपना सकती है, छत्तीसगढ़ का फॉर्मूला

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com