ओमिक्रोन को लेकर विश्व परेशान, लेकिन राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री बोले- "नए वेरिएंट से राज्य को कोई खतरा नहीं"

जबकि राजस्थान में 87 फीसदी को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं लगी
ओमिक्रोन को लेकर विश्व परेशान, लेकिन राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री बोले- "नए वेरिएंट से राज्य को कोई खतरा नहीं"

राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा

photo-NBT

डेस्क न्यूज. देश और दुनिया भर के वैज्ञानिक और विशेषज्ञ कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को समझने और नियंत्रित करने के लिए चिंतित हैं। वहीं, राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने इस वेरिएंट को लेकर चिंतित होने की बात कही है, स्वास्थ्य मंत्री मीणा ने कहा कि राज्य में ओमिक्रोन का संक्रमण नियंत्रण में है। यहां मिले सभी 17 मरीज नेगेटिव हो गए हैं। फिलहाल इस नए वेरिएंट से राज्य को कोई खतरा नहीं है। इस वजह से हम राज्य में स्कूल-कॉलेज बंद नहीं करेंगे।

<div class="paragraphs"><p>वैज्ञानिक और विशेषज्ञ कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को समझने और नियंत्रित करने के लिए चिंतित</p></div>

वैज्ञानिक और विशेषज्ञ कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन को समझने और नियंत्रित करने के लिए चिंतित

हम स्कूल और कॉलेज बिल्कुल बंद नहीं करेंगे- परसादी लाल मीणा

मीडिया से बातचीत में मंत्री ने कहा कि लोगों और अभिभावकों में इस बात को लेकर चिंता है कि कोरोना का नया वेरिएंट आ गया है, ऐसे में क्या फिर से स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे? उन्होंने कहा- कि ऐसा कुछ नहीं है। हम स्कूल और कॉलेज बिल्कुल बंद नहीं करेंगे। राजस्थान ने ओमिक्रोन को नियंत्रित किया है। एक भी संक्रमित को बड़े पैमाने पर लोगों के संपर्क में नहीं आने दिया गया। उन्होंने बताया कि हाल ही में एक परिवार साउथ अफ्रीका से आया था। हमने उसके संपर्क में आए सभी लोगों का पता लगाया और उनका परीक्षण किया। इनमें से जो जीनोम सीक्वेंसिंग में ओमिक्रोन से संक्रमित पाए गए, वे सभी ठीक हो कर घर जा चुके हैं। उनकी सभी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है।

31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य

मंत्री परसादी लाल ने कहा कि हमारा पूरा ध्यान कोरोना को नियंत्रित करने के साथ ही टीकाकरण पूरा करने पर है। हमने 31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य रखा है। हमने केंद्र सरकार से स्वास्थ्य कर्मियों और अग्रिम पंक्ति के कर्मियों के लिए बूस्टर खुराक शुरू करने की अनुमति मांगी है। अभी तक प्रधानमंत्री की ओर से कोई जवाब नहीं आया है।

राजस्थान में 87 फीसदी को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं लगी

वर्तमान में राजस्थान में टीकाकरण की स्थिति पर नजर डालें तो सभी लक्षित समूहों के लगभग 5 करोड़ 14 लाख 95,402 लोगों में से केवल 4 करोड़ 49 लाख 27,680 लोग ही वैक्सीन लेने पहुंचे हैं। यानी 87 फीसदी को वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है। इनमें से अब तक 3 करोड़ 5 लाख 1244 लोगों का टीकाकरण पूरा हो चुका है। यानी इतने लोगों ने दोनों डोज ले लिए हैं।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com