कुएं में मिले 3 सगी बहनों सहित पांच के शव: एक ही परिवार में ब्याही थीं‚ दहेज ने लील ली जिंदगी

तीनों बहनें दूदू कस्बे के मीणा मोहल्ले की रहने वाली बताई जा रही हैं। जानकारी के अनुसार सुबह दूदू से 2 किलोमीटर दूर नरैना रोड पर कुएं में शव मिले थे। लोगों ने बताया कि तीनों बहनों ने बच्चों को मारकर खुद सुसाइड कर लिया। उन्होंने ऐसे क्यों किया इसकी जानकारी अब तक सामने नहीं आई है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।
कुएं में मिले 3 सगी बहनों सहित पांच के शव: एक ही परिवार में ब्याही थीं‚ दहेज ने लील ली जिंदगी
जयपुर में एक साथ पांच शव मिलने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। स्थानीय पुलिस के अनुसार सभी शवों की पहचान कर परिजनों को सूचना दे दी गई है। गौरतलब है कि शनिवार सुबह जयपुर के दूदू में तीन महिलाओं व दो बच्चों के शव मिलने की जानकारी पुलिस को मिली थी। ग्रामीणों ने बताया कि कुएं में मिले सभी शवों का संबंध दूदू से ही है। इनमें तीन सगी बहनें और उनके दो बच्चे शामिल थे।
इसके बाद ग्रामीणों की सहायता से ही शवों को बाहर निकाला गया। तीनों बहनें दूदू कस्बे के मीणा मोहल्ले की रहने वाली बताई जा रही हैं। जानकारी के अनुसार सुबह दूदू से 2 किलोमीटर दूर नरैना रोड पर कुएं में शव मिले थे। लोगों ने बताया कि तीनों बहनों ने बच्चों को मारकर खुद सुसाइड कर लिया। उन्होंने ऐसे क्यों किया इसकी जानकारी किसी को नहीं है। शुरुआती तफ्तीश में पुलिस इसे आत्महत्या का मामला मान कर ही जांच कर रही है। उधर मृतक महिलाओं के परिजन ने ससुराल पक्ष देहज का आरोप लगाया है।

25 मई को बाजार जाने का कहकर घर से निकलीं थी महिलाएं

दूदू पुलिस के अनुसार दो दिन पहले दोपहर में काली देवी (27), ममता मीणा (23), कमलेश मीणा (20) घर से लापता हो गई थीं। उनके साथ चार साल का बेटा हर्षित और 20 दिन का दूसरा बच्चा भी गायब था। ये सभी 25 मई को बाजार जाने का कहकर घर से निकली थीं। शाम तक सब नहीं लौटे तो परिवार ने तलाश शुरू कर दी, लेकिन कोई जानकारी नहीं मिल सकी।

पोस्टर लगाकर तलाश में जुटे थे परिजन और पुलिस, शनिवार सुबह मिले शव, 2 बहनें थी 9 माह की प्रेग्ननेंट

लापता होने के बाद से पुलिस और परिवार के लोग इनकी तलाश कर रहे थे। इसके लिए पूरे शहर में फोटो भी बांटे गए। तलाश जारी ही थी कि शनिवार सुबह पाचों के शव मिले। शव मिलने के बाद मौकाए वारदात को सील कर दिया गया है। पुलिस गांव और परिवार से पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि इन बहनों में से एक कमलेश नौ माह की गर्भवती थी। पुलिस ने बताया कि मरने वाली तीनों सगी बहनों की एक साथ दूदू के तीन भाइयों से शादी हुई थी। बड़ी बहन काली देवी का चार साल का लड़का हर्षित है। महिलाओं के पति खेती का काम करते हैं।
इधर चचेरे भाई हेमराज मीणा ने आरोप लगाया कि उसकी एक बहन को ससुराल वालों दहेज को लेकर बुरी तरह पीटा था। हेमराज ने कहा कि हमारी बहनों की दहेज हत्या की गई है। पुलिस को शव खोजन में समय लगा दिया। कार्रवाई करते हुए पुलिस ने ससुराल वालों के परिवार के कुछ सदस्यों को हिरासत में लिया है।
कुएं में मिले 3 सगी बहनों सहित पांच के शव: एक ही परिवार में ब्याही थीं‚ दहेज ने लील ली जिंदगी
देवबंद में जुटे 25 राज्यों के उलेमा :मौलाना ने कहा सत्ता में बैठे लोग उन्मादियों को हौसला दे रहे...
Since independence
hindi.sinceindependence.com