बाड़मेर में MiG क्रैश, दोनों पायलट शहीद, वायुसेना ने दिया कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश

बाड़मेर के भीमड़ा गांव में गुरुवार रात 9:10 बजे वायुसेना का लड़ाकू विमान मिग-21 हुआ दुर्घटनाग्रस्त । हादसे में 2 पायलट शहीद । वायुसेना ने दिया कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश ।
बाड़मेर में MiG क्रैश, दोनों पायलट शहीद, वायुसेना ने दिया कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश

राजस्थान के बाड़मेर के भीमड़ा गांव में गुरुवार रात 9:10 बजे वायुसेना का लड़ाकू विमान मिग-21 बाइसन (ट्रेनर एयरक्राफ्ट) दुर्घटनाग्रस्त हो गया । धमाका इतना जोरदार था कि इसकी आवाज आसपास के 8-10 किमी तक सुनी गई । आधा किलोमीटर तक फैले मलबे में चारों तरफ आग लग गई। हादसे में विमान में सवार दोनों पायलट शहीद हो गए।

देर रात वायुसेना ने घटनास्थल के आसपास के करीब आधा किलोमीटर के इलाके को अपने कब्जे में ले लिया । वायु सेना बिखरा हुआ मलबा इकट्ठा करने और घटना की जांच में लगी हुई है। घटना के बाद 100 से ज्यादा जवान और वायुसेना के अधिकारी मौजूद हैं।

घटना से जुड़े विडियो आए सामने

घटना के कुछ वीडियो सामने आए हैं, जिसमें हादसे के बाद विमान के मलबे में आग लगी हुई दिख रही है । घटना स्थल पर एक मोबाइल फोन भी टूटा हुआ है। जहां विमान गिरा, वहां 15 फीट के दायरे में बड़ा गड्ढा हो गया है। बाड़मेर में नौ साल में सैन्य विमान दुर्घटना का यह आठवां मामला है ।

विमान आग के गोले में बदल गया

मिग-21 ने उत्तरलाई से उड़ान भरी और अचानक भीमड़ा के पास विमान में तकनीकी खराबी आ गई। बताया जा रहा है कि मिग रेत के टीले पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। ईंधन होने के कारण उसमें आग लग गई । इससे पहले कि दोनों पायलट विमान से बाहर निकल पाते, यह आग के गोले में बदल गया।

छावनी में तब्दील हुआ गांव

भीमड़ा गांव से करीब 2 किमी दूर इशरा मौका ताला गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है गांव वालों का कहना है कि रात को आकाश में आग का एक गोला दिखाई दिया। कुछ ही देर में जोरदार धमाका हुआ। यह देख ग्रामीण मौके की ओर दौड़ पड़े। मौके पर आग की लपटें उठ रही थीं। 2 लोगों के शव भी पड़े थे। हादसे के करीब 45 मिनट बाद पुलिस और सेना के अधिकारी मौके पर पहुंचे।

वायुसेना ने दिया कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश

वायुसेना ने हादसे के कारणों का पता लगाने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दिए हैं। साथ ही शहीद हुए 2 जवानो के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। दुर्घटना के बारे में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी से बात की।

बाड़मेर जिले में नौ साल में यह आठवां मिग हादसा है

  • 12 फरवरी 2013: उत्तरलाई से सिर्फ 7 किलोमीटर। अनानी की धानी कुडला के पास मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित

  • 7 जून 2013: उत्तरलाई से 40 कि.मी. दूर सोदियार में मिग-21 क्रैश, पायलट सुरक्षित

  • 15 जुलाई 2013: उत्तरलाई से 4 किमी. दूर बांद्रा में मिग-27 क्रैश, पायलट सुरक्षित

  • 27 जनवरी 2015: बाड़मेर में शिवकर रोड पर मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित।

  • 10 सितंबर 2016: माली की ढाणी बाड़मेर में मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित।

  • 15 मार्च 2017: सुखोई-30 शिवकर के पास दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सुरक्षित।

  • 25 अगस्त 2021: मातासर भूटिया में मिग-21 बाइसन क्रैश, पायलट सुरक्षित

  • 28 जुलाई 2022: भीमदा गांव में मिग-21 बाइसन दुर्घटनाग्रस्त, दो पायलट शहीद।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com