Rajasthan: कृष्ण जन्माष्टमी पर गौहत्या को लेकर बवाल, घरों की तलाशी ली तो मिले गौवंश के अवशेष और हथियार

राजस्थान के टोंक जिले के गांव लालवाड़ी में बीफ को लेकर हुए विवाद में मारे गए गोवंश के अवशेष मिलने के बाद सैकड़ों ग्रामीण, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। घरों की तलाशी के दौरान चार बंदूकें गौवंश के अवशेष मिलने से ग्रामीण आक्रोशित है।
Rajasthan: कृष्ण जन्माष्टमी पर गौहत्या को लेकर बवाल, घरों की तलाशी ली तो मिले गौवंश के अवशेष और हथियार

जब पूरा देश कृष्ण जन्माष्टमी मना रहा था उसी दौरान राजस्थान के टोंक में गौहत्या को लेकर हंगामा हो रहा था। एजाज नाम के व्यक्ति के साथ मिलकर कुछ लोगों ने गाय को काट दिया। जिसके बाद सूचना पर आक्रोशित लोगों की भीड़ ने हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंचे आधिकारीयों से जब आस-पास के घर की तलाशी लेने की बात कही गई। तालाशी लेने पर गौवंश के अवशेष के साथ आस-पास के कुछ घरों से हथियार भी बरामद किए गए। जिसके कारण लोग और आक्रोशित हो गए और आरोपियों की गिरफ्तारी करने के लिए 7 दिन का अल्टीमेट दिया गया।

राजस्थान के टोंक का मामला

राजस्थान के टोंक जिले के गांव लालवाड़ी में बीफ को लेकर हुए विवाद में मारे गए गोवंश के अवशेष मिलने के बाद सैकड़ों ग्रामीण, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस उपाधीक्षक रुद्रप्रकाश शर्मा ने बताया कि घासी के ढाणी लालवाड़ी निवासी इस्लाम पुत्र इमाम बख्श ने पुलिस को लिखित शिकायत दी और बताया कि गुरुवार को वह एजाज उर्फ ​​लाला पुत्र मुंशी बंजारा के घर गया था। वहां तीन-चार लोग गाय का मांस काटकर बेच रहे थे।

पुलिस को सूचना देने पर दी, जान से मारने की धमकी

इस्लाम ने इसका विरोध किया और उन्हें समझाया। इस्लाम ने बताया वह घर से मस्जिद में नमाज अदा करने जा रहा था, इस दौरान मुंशी और सलमान समेत चार-पांच लोगों ने उसे रोका और मारपीट की। हमलावरों ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी है। गोहत्या की सूचना पर भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष नरेंद्र शर्मा, अरनिया मंडल अध्यक्ष हनुमान चौधरी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता, गोसेवा दल कार्यकर्ता और हिंदू संगठन मौके पर पहुंचे।

तलाशी में चार बंदूकें मिलीं

इस दौरान उन्होंने गाय की हत्या करने वाले लोगों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने कुछ घरों की तलाशी की मांग की। इसके बाद घासी की ढाणी में कुछ घरों में तलाशी ली गई। तलाशी में चार बंदूकें मिलीं, जिनमें से एक लोडेड थी। घरों से तलवारें, छर्रे और कुल्हाड़ी बरामद की गई है। बंदूक मिलने की सूचना पर सैकड़ों ग्रामीण जमा हो गए। इसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक सुभाष चंद्र मिश्रा लालवाड़ी पहुंचे और ग्रामीणों से बात की, लेकिन ग्रामीण गाय के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग करते रहे, जिसके बाद पुलिस लाइन से जपता को बुलाया गया।

एफएसएल टीम पहुंची घटना स्थल पर

इस बीच पुलिस अधीक्षक मनीष त्रिपाठी और अपर जिला कलेक्टर परशुराम ढांका ने मौके पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया, जिसके बाद ग्रामीणों ने अपर जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। डीएसपी रुद्रप्रकाश शर्मा ने बताया कि मोब और एफएसएल की टीमों को मौके पर बुलाया गया है। टीम ने सबूत जुटाए हैं, जिसके बाद मेडिकल बोर्ड से गाय का पोस्टमॉर्टम किया गया. मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। इस दौरान एसडीएम रवि वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महिला प्रकोष्ठ प्रकाशचंद्र, उनियारा डीएसपी शकील अहमद, पीपलू डीएसपी इंदु लोदी, तहसीलदार प्रजाल कावर, निवाई एसएचओ अजय कुमार, बरोनी एसएचओ हरिराम, सदर निवाई एसएचओ कप्तान सिंह और दत्तावास एसएचओ शिवजीलाल उपस्थित थे।

Since independence
hindi.sinceindependence.com