दौसा: मायके जा रही महिला से बदमाशों ने गैंगरेप किया‚ हत्या कर शव कुएं में फेंका

मृतक महिला के पति ने बताया कि 23 अप्रैल को मैंने ही ससुराल से पीहर के लिए रवाना किया था, लेकिन वह पीहर नहीं पहुंची और बीच रास्ते में ही बदमाशों ने उसकाे किडनैप कर लिया।
दौसा: मायके जा रही महिला से बदमाशों ने गैंगरेप किया‚ हत्या कर शव कुएं में फेंका
वहीं, दौसा जिला अस्पताल की मोर्चरी में महिला के शव को रखवाया गया।

राजस्थान के दौसा रामगढ़ पचवारा से मायके जा रही महिला को किडनैप कर गैंगरेप का मामला सामने आया है। बदमाशों ने महिला के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार की, महिला के साथ गैंगरेप के बाद हत्या कर शव को कुंए में फेक दिया। पूरे घटनाक्रम पर नजर डाले तो पचवारा थाने में 24 अप्रैल को महिला की गुमशुदगी का मामला दर्ज हुआ था। मामले में जयपुर कमिश्नरेट के बस्सी थाना क्षेत्र में महिला का शव एक कुएं में पड़ा होने की सूचना मिली। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों की मदद से शव को बाहर निकलवाया। वहीं, दौसा जिला अस्पताल की मोर्चरी में महिला के शव को रखवाया गया। साथ ही परिजनों को भी सूचना दी गई। फ़िलहाल परिजनों ने शव को लेने से इनकार कर दिया है। परिजनों की प्रसाशन से मांग है की अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिले और परिवार में एक नौकरी और 50 लाख रुपए दिए जाये।

परिजनों की प्रसाशन से मांग है की अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिले और परिवार में एक नौकरी और 50 लाख रुपए दिए जाये।
परिजनों की प्रसाशन से मांग है की अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिले और परिवार में एक नौकरी और 50 लाख रुपए दिए जाये।

मृतक महिला के पति ने बताया कि 23 अप्रैल को मैंने ही ससुराल से पीहर के लिए रवाना किया था

घटना को लेकर दौसा एएसपी लालचंद कायल ने बताया कि महिला अपने ससुराल से पीहर आ रही थी। इसी दौरान बदमाशों ने महिला को किडनैप किया और उसके बाद गैंगरेप किया और हत्या कर कुएं में फेंक दिया। वहीं इस मामले में चार लोगों को डिटेन भी किया गया है।

मृतक महिला के पति ने बताया कि 23 अप्रैल को मैंने ही ससुराल से पीहर के लिए रवाना किया था, लेकिन वह पीहर नहीं पहुंची और बीच रास्ते में ही बदमाशों ने उसका किडनैप कर लिया। उसके साथ गैंगरेप किया और हत्या कर कुएं में फेंक दिया। पति ने बताया उसकी पत्नी (परिवर्तित नाम सीमा) के साथ 2008 में शादी हुई थी। मेरी पुलिस प्रसाशन से मांग है की अपराधियों को सख्त से सख्त सजा मिले।

वहीं, दौसा जिला अस्पताल की मोर्चरी में महिला के शव को रखवाया गया।
CM Ashok Gehlot का बड़ा ऐलान, नहीं होगी RAS मेन्स परीक्षा स्थगित, अभ्यर्थियों की मांग के बाद भी नहीं बदला फैसला

Related Stories

No stories found.